गोरखपुर

सामूहिक शंखनाद से नव संवत्सर के कार्यक्रम नवोत्तपल मनाने का शुभारंभ

सामूहिक शंखनाद से नव संवत्सर के कार्यक्रम नवोत्तपल मनाने का शुभारंभ

गोरखपुर: साहित्य रंगकर्म एवं ललित कलाओं को समर्पित अखिल भारतीय संस्था संस्कार भारती द्वारा भारतीय नव वर्ष नव संवत्सर के कार्यक्रम नवोत्तपल समारोह पूर्वक मनाने का शुभारंभ गुरुवार को स्थानीय चेतना आस्था तिराहा गोलघर पर सामूहिक शंखनाद से किया गया। जिसमें संस्था के सदस्यों के अलावा विवेकानंद पीठ के शिक्षक एवं छात्र छात्राएं सम्मिलित हुए। आयोजन स्थल को रंगोली संयोजक सुरेंद्र प्रजापति,सह संयोजक विनीता गुप्ता,श्वेता वर्मा एवं अनु शुक्ला आदि ने पारंपरिक भारतीय रंगोली से सुसज्जित किया। कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने आमजन में चार दिवसीय कार्यक्रम की रूपरेखा से संबंधित पत्र का वितरण भी किया ।

सामूहिक शंखनाथ का शुभारंभ आई जी गोरखपुर नीलाब्जा चौधरी द्वारा दीप प्रज्वलन से हुआ।विवेकानंद पीठ के छात्र-छात्राओं एवं शिक्षिकाओं के अलावा संस्था के सदस्यों ने भी उत्साह पूर्वक शंखनाद में अपनी सहभागिता निभाई । इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह में शंखनाद के प्रति उत्साह व आकर्षण देखते बन रहा था । हर कोई एक बार शंख बजाने को उत्सुक था।

मुख्य अतिथि आईजी गोरखपुर नीलाब्जा चौधरी ने इस अवसर पर कहा कि संस्कार भारती संस्था कलाकारों के संवर्धन एवं भारतीय संस्कृति के संरक्षण के लिए जो कार्य कर रही है वह प्रशंसनीय है। लगातार 25 वर्षों से भारतीय नव वर्ष कार्यक्रम का आयोजन संस्कार भारती द्वारा किया जाता रहा है।जो भारतीय परंपराओं एवं मान्यताओं के संवर्धन के प्रति संस्था की गंभीरता को दर्शाता है।

इसी क्रम में संस्कार भारती के राष्ट्रीय नाट्य प्रमुख रविशंकर खरे काशी प्रांत की पदाधिकारी तथा काशी विद्यापीठ के ललित कला विभाग के पूर्व अध्यक्ष प्रोफ़ेसर प्रेमचंद विश्वकर्मा,गोरक्ष प्रांत के अध्यक्ष डॉ शरद मणि त्रिपाठी, महामंत्री डॉ आशीष श्रीवास्तव ने भी अपने विचारों को रखा।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से हरिप्रसाद सिंह, डॉ भारत भूषण,डॉक्टर सुदीप्ता वि भूषण,डॉ वीके सिंह, राजीव केतन, विश्व मोहन तिवारी,एसवाल श्रीवास्तव नील रतन वैश,कन्हैया श्रीवास्तव,प्रतिमा श्रीवास्तव,आशा मिश्रा, शशि मिश्रा,गायत्री, रचना, डॉ सुशीला सिंह,मिथिलेश तिवारी, राजेश सिंह, वंदना दास, सोमनाथ बनर्जी, अमरनाथ,अमित पटेल, प्रवीणआर्य,संदीप श्रीवास्तव,सुनिशा श्रीवास्तव सहित प्रांत एवं महानगर के पदाधिकारी मौजूद रहे।आगंतुकों का स्वागत महानगर अध्यक्ष श्रीमती रीता श्रीवास्तव ने तथा कार्यक्रम के अंत में महानगर महामंत्री अजीत प्रताप सिंह ने उपस्थित जनमानस के प्रति आभार व्यक्त किया।

उन्होंने बताया कि 9 बजे के स्वागत के इस क्रम में 17 मार्च को डूबते तथा 18 मार्च को नववर्ष के प्रारंभ के उपलक्षय में उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *