गोरखपुर

हरियाणा जाट आन्दोलन के कारण पूर्वोतर रेलवे ने निरस्त की ट्रेने, यहाँ देखे पूरी लिस्ट

trainगोरखपुर: हरियाणा में चल रहे जाट आन्दोलन के कारण रेल प्रशासन ने कुछ गाड़ियों को निरस्त करने का निर्णय लिया है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने हरियाणा और पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में आंदोलनकारियों से रेलवे की संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाने और रेल सेवा बाधित नहीं करने की अपील की है।
निरस्त ट्रेनों की लिस्ट:
– 22 फरवरी, 2016 को सहरसा से चलने वाली 12203 सहरसा-अमृतसर एक्सप्रेस
– 23 फरवरी, 2016 को जयनगर से चलने वाली 14649 जयनगर-अमृतसर एक्सप्रेस
– 22 फरवरी, 2016 को मुजफ्फरपुर से चलने वाली 19270 मुजफ्फरपुर-पोरबन्दर एक्सप्रेस
– 22 व 23 फरवरी, 2016 को गोरखपुर से चलने वाली 12555 गोरखपुर-हिसार गोरखधाम एक्सप्रेस
– 22 फरवरी, 2016 को काठगोदाम से चलने वाली 15014 काठगोदाम-जैसलमेर एक्सप्रेस
– 22 फरवरी, 2016 को रामनगर से चलने वाली 25014 रामनगर-मुरादाबाद लिंक एक्सप्रेस
प्रभु ने यहां बंगाल के लिए कई रेल परियोजनाओं की शुरुआत करते हुए कहा, “मैं पश्चिम बंगाल, हरियाणा और हर जगह पर अपने मित्रों से अपील कर रहा हूं कि कृपया रेल सेवा बाधित न करें। रेलगाड़ियों को चलने दें। आपकी शिकायतों पर अलग से विचार हो सकता है।”
प्रभु ने कहा, “हरियाणा में लोगों की शिकायतों की वजह से रेलवे को बहुमूल्य संपत्ति का नुकसान सहना पड़ा है। अब हमें इसके लिए फिर से धन हासिल करना होगा।”
आरक्षण की मांग कर रहे जाटों ने हरियाणा के जींद में बुधखेड़ा रेलवे स्टेशन और गुड़गांव के बसई रेलवे स्टेशन के टिकट काउंटर फूंक दिए हैं।
रेल मंत्री ने कहा कि रेलवे को धन का इंतजाम करने में भारी दबावों का सामना करना पड़ रहा है।
उन्होंने कहा, “अगर आप इन्हें फूंक देंगे, तो फिर अतिरिक्त सुविधाओं की बात भूल जाइए। मौजूदा आधारभूत ढांचे को ही फिर से मजबूत करने के लिए धन का इंतजाम करना होगा। कृपया सड़क बाधित न करें, रेल मार्ग को तो बिल्कुल भी नहीं।”
जाटों ने अपने आंदोलन से हरियाणा में जन-जीवन पंगु बना दिया है। दिल्ली से संपर्क कट-सा गया है। राज्य के कई हिस्सों से दिल्ली और अन्य जगहों के लिए बड़ी संख्या में रेलगाड़ियां आ-जा नहीं रही हैं। बसें नहीं चल रही हैं। हरियाणा से गुजरने वाले लगभग सभी मुख्य राष्ट्रीय राजमार्गो को आंदोलनकारियों ने बाधित किया हुआ है। रेल पटरियों पर आंदोलनकारी बैठे हुए हैं। कई जगहों पर इन्हें उखाड़ फेंका गया है। हजारों लोग जगह-जगह फंसे हुए हैं।
प्रभु ने कहा कि वह बंगाल के कूच बिहार से गुजरने वाली परियोजना की शुरुआत करना चाह रहे थे, लेकिन ग्रेटर कूच बिहार पीपुल्स एसोसिएशन के अनिश्चितकालीन ‘रेल रोको’ की वजह से ऐसा नहीं कर सके।
प्रभु ने एनएसीसी बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से जेस्सोर रोड मेट्रो स्टेशन तक की अंडरग्राउंड मेट्रो परियोजना के निर्माण कार्य की स्मृति पट्टिका का अनावरण किया। 22 फरवरी से व्यस्त समय में चलने के लिए 14 अतिरिक्ति मेट्रो सेवा का ऐलान किया और कोलकाता टर्मिनल-बेलगछिया रोड ओवरब्रिज का उद्घाटन रिमोट के जरिए किया।

पुलिस कप्तान थानेदारों संग बाजारों मे करेंगे गश्त, DGP ने दिए निर्देश

‘गांव की गांव में सुलझावे, कोर्ट कचहरी कभी न जावें’: एसएसपी अनंत देव

गोरखपुर की हर खबर यहाँ पढ़े http://gorakhpur.finalreport.in/ 

LIKE US:

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *