गोरखपुर

अधर में पड़ी यूपी बोर्ड के 12 हजार व्यक्तिगत छात्रों की परीक्षा, फार्मो में गड़बड़ी की आशंका

यूपी बोर्ड छात्रों की परीक्षा फार्मो में गड़बड़ी

गोरखपुर: यूपी बोर्ड परीक्षा के तहत हाई स्कूल एवं इंटरमीडिएट के छात्रों की प्रयोगात्मक परीक्षा चल रही है लेकिन माध्यमिक शिक्षा परिषद गोरखपुर के अंतर्गत आने वाले गोरखपुर, बस्ती व देवीपाटन मंडलों के 55 हजार प्राइवेट विद्यार्थियों की प्रयोगात्मक परीक्षा को फिलहाल रोका गया है। करीब 12 हजार विद्यार्थियों के अर्हता प्रमाण पत्र फर्जी पाए जाने के कारण एहतियात के तौर पर यह फैसला लिया गया है।

बता दें कि यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाओं के फॉर्म भरते समय प्राइवेट विद्यार्थियों के परीक्षा फार्म भी आनलाइन भरे गए थे और उसे आफलाइन भी जमा कराया गया था।जिसमे जांच के दौरान ही आफ लाइन फार्मो में अर्हता प्रमाण पत्रों की गड़बड़ी का पता चला।

प्रदेश में प्रयोगात्मक परीक्षा दो चरणों में करायी जा रही है। प्रथम चरण में देवीपाटन एवं बस्ती मंडल के विद्यालयों में 29 दिसंबर तक परीक्षा करायी गई। दूसरे चरण में 30 दिसंबर से 13 जनवरी तक परीक्षा हो रही है। पर अभी तक संस्थागत परीक्षार्थियों की परीक्षा करायी जा रही है।

प्राइवेट विद्यार्थियों की सूची ही जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय तक नहीं भेजी गई है। इस बात को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं लेकिन असल बात कई विद्यार्थियों के अर्हता प्रमाण पत्र के गलत पाए जाने की है।संस्थागत विद्यार्थियों के साथ प्राइवेट विद्यार्थियों की परीक्षा शुरू न होने के कारण इनका परीक्षा फार्म भराने वाले विद्यालयों के प्रबंधक ऊहापोह में हैं।

वे DIOS कार्यालय से लेकर क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय तक परीक्षा रोके जाने के कारणों का पता लगाने में जुटे हैं। इनका कहना है कि जब माध्यमिक शिक्षा परिषद ने फार्म स्वीकार कर लिया तो क्षेत्रीय कार्यालय से कैसे रोका जा सकता है। गोरखपुर जिले में 38 विद्यालयों से करीब 16 हजार विद्यार्थियों ने प्राइवेट फार्म भरा है।

इस बारे में गोरखपुर स्थित माध्यमिक शिक्षा परिषद, क्षेत्रीय कार्यालय के सचिव योगेंद्र नाथ सिंह ने कहा कि प्राइवेट विद्यार्थियों में से करीब 12 हजार के अर्हता प्रमाण पत्र गलत पाए गए हैं। उनकी सूची को अंतिम रूप दिया जा रहा है। यह काम पूरा होते ही शेष विद्यार्थियों के रोल नंबर भेज दिए जाएंगे। सभी अर्ह विद्यार्थियों की प्रयोगात्मक परीक्षा हर हाल में करायी जाएगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *