गोरखपुर

अब कैदी भी कर सकेंगे जेल से परिजनों से फोन पर बात, मंडल कारागार में पीसीओ का हुआ उद्घाटन

Phone-facility-starts-in-goगोरखपुर: मंडल कारागार में बंद हजारों कैदियों को अब अपने परिजनों का मिलाई के दिन का इंतजार नहीं करना पड़ेगा और ना ही अगली मिलाई की तारीख तक मांगे गए सामानों की प्रतीक्षा करनी पड़ेगी ।
आज कुछ ऐसा ही गोरखपुर मंडल कारागार में देखने को मिला। मंडलीय कारागार में कैदियों की सुविधा के लिए वरिष्ठ जेल अधीक्षक एस के शर्मा ने एक पीसीओ का उद्घाटन किया। जिस पर कारागार में बंद कोई भी कैदी अपने परिजनों से निर्धारित समयावधि में बे रोक-टोक बातें कर सकेगा। शर्त यह रहेगी कि एक कैदी को पहले ही संबंधित दो टेलीफोन नंबरों को जेल प्रशासन को उपलब्ध कराना पड़ेगा। जिसे जेल प्रशासन अपनी डायरेक्टरी में फीड कर के उसका लोकेशन और संबंधित दूरभाष यंत्र के मालिक की वास्तविकता जान सकेगा।
कैदियों को बात करने के लिए 5 मिनट का समय दिया जायेगा। और एक कैदी महीने में अधिकतम 4 बार अपने रिश्तेदारों से बात कर सकता है। आज 6 साल बाद दो कैदियों अपने परिवार से बात किया। फोन करने वाले कैदी को जेल के ऑफिसर के सामने बात करनी होगी तथा संबंधित बातों की रिकॉर्डिंग जेलर के कक्ष में रखे उपकरण में की जाएगी।
पीसीओ के संचालन से जेल में बन्द उन हजारों कैदियों की समस्या का समाधान हो गया । जिसके परिजन सैकड़ों किलोमीटर दूर से महीने में काफी रकम खर्च करके मिलने आते हैं और जब कैदी उनसे अपने रोजमर्रा की वस्तुओं की डिमांड कर बैठता है तो उनके सिवाय उनके सामने शिवाय मन मसोसकर रह जाने के कुछ नहीं बचता है। फिलहाल जेल प्रशासन की इस पहल से कैदियों में चारों तरफ खुशी दौड़ गई है।
हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *