गोरखपुर

पीएम मोदी पहुंचे गोरखपुर

pm-modi-reaches-gorakhpurगोरखपुर: पूर्वांचल को एम्स और फ़र्टिलाइज़र कारखाने के सौगात देने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी गोरखपुर पहुँच गए हैं। प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राज्यपाल एयरपोर्ट पर पहुंच चुके हैं। इधर, बारिश के बाद भी लोग बड़ी संख्या में रैली स्थल पर पहुंच रहे हैं।
खाद कारखाना एवं एम्स का शिलान्यास करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रह्मालीन महंत अवेद्यनाथ की मूर्ति स्थापना कार्यक्रम में भाग लेंगे। जहां मंदिर स्थित दिग्विजयनाथ स्मृति सभागार में संत सम्मेलन होगा।
सम्मेलन में देश भर की नाथपंथ की प्रमुख पीठों के महंत और अन्य धर्म पीठों के धर्माचार्य शामिल होंगे। लिहाजा यहां भी सुरक्षा की मुकम्मल व्यवस्था होगी। सभागार की क्षमता के अनुसार विशेष ‘बारकोडेड’ आमंत्रण पत्र जारी होगा।
rain-at-PM-Modi-rally-place
गोरखपुर में पीएम को परोसा जाएगा ढोकला, दलिया और दहीबड़ा
शहर में पीएम नरेन्द्र मोदी के लिए उनकी पसंद के खास व्यंजन तैयार किए जाएंगे। गोरखनाथ मंदिर में प्रसाद के रूप में मट्ठा के साथ उनके अल्पाहार में ढोकला, दलिया, दहीबड़ा, अंकुरित अनाज और गुलाब जामुन जैसी चीजें शामिल होंगी।
rain-at-rallyदरअसल, 25 वर्ष से अधिक समय से पूर्वी उत्तर प्रदेश की जो समस्या सियासी मुद्दा बनकर हर चुनाव में हाजिर रहती थी, उस पर मोदी विराम लगा देंगे।
मोदी को रैली को संबोधित करने से पहले आज फर्टिलाइजर कारखाना और एम्स की आधारशिला रखेंगे। प्रधानमंत्री की ओर से यह ऐसा तोहफा है जिसके इंतजार में पूर्वांचल की जनता दशकों से सत्ता प्रतिष्ठानों की ओर निहार रही थी। 1970 के दशक से इंसेफ्लाइटिस का दंश झेल रहे यहां के बचपन और 1991 में फर्टिलाइजर कारखाना बंद होने के बाद बढ़ती बेरोजगारी ने आमजन के मन में सियासत के प्रति क्षोभ पैदा किया है।
कभी प्रधानमंत्री नरसिंह राव ने कारखाना चलाने की उम्मीद जगायी तो कभी मनमोहन सिंह ने घोषणा की लेकिन पूर्वांचल के लिए यह शब्दों की जुगाली से ज्यादा कुछ नहीं था। एनडीए की पिछली सरकार में भी इसके लिए पहल हुई लेकिन मुकाम नहीं मिला। स्थानीय नेताओं ने अपनी सामथ्र्य भर खूब कोशिश की लेकिन उनकी आवाज दबकर रह गयी। अब क्षेत्रीय सांसद व गोरखनाथ मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ की कोशिशें कारगर रहीं।
निस्संदेह मोदी ने पूर्वांचल की आरजू का मान रखा है और उनके द्वारा एम्स और फर्टिलाइजर की नींव की ईंट रखते ही उम्मीदों को भी बुनियाद मिल जाएगी। पूर्वांचल में यह उत्साहित भाजपा महसूस कर रही है। रैली का जायजा लेने पहुंचे भाजपा प्रदेश प्रभारी ओमप्रकाश माथुर और प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य का कहना था कि प्रधानमंत्री यहां विकास के द्वार खोल रहे हैं।
गोरखपुर, महराजगंज, कुशीनगर, देवरिया, बलिया, मऊ, आजमगढ़, संतकबीरनगर, बस्ती और सिद्धार्थनगर जिले को लेकर भाजपा गोरखपुर क्षेत्र की कुल 11 इकाइयां हैं। 62 विधानसभा क्षेत्र और 13 लोकसभा सीटों वाले इस इलाके में कभी बाढ़ की विभीषिका तो कभी महामारी तो कभी सूखे की मार पड़ती रही है। सरयू, राप्ती, रोहिन, कुआनों, नारायणी, तमसा जैसी कई छोटी-बड़ी नदियों के घेरे में बसे इस अंचल में आजादी के बाद से ही विकास की लौ मद्धम रही। गन्ने की खेती कर अपनी तकदीर संवारने वाले किसान कुप्रबंधन के चलते छले गए। भाजपा के वरिष्ठ नेता संतराज यादव कहते हैं कि प्रधानमंत्री की पहल से पूर्वी उत्तर प्रदेश की जनता में खुशी की लहर है। यही खुशी वोटों में बदलेगी और 2017 में उत्तर प्रदेश की सरकार भी भाजपा ही बनाएगी।

fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *