गोरखपुर

आध्यात्मिक अनुशासन ही योग है: आदित्यनाथ

Union-Minister-Sri-Pad-Naikगोरखपुर: केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद यसो नायक ने बुधवार को कहा कि भारतीय ऋषि-मुनियों की देन-‘योग’ भारत की एक अत्यंत प्राचीन विरासत है। इस विरासत को महायोगी गोरखनाथ जी की सिद्ध पीठ गोरक्षपीठ ने सुरक्षित रखा और उसे जनता के बीच जीवन्त बनाये रखा।
श्रीगोरखनाथ मन्दिर में योगिराज बाबा गम्भीरनाथ पुण्यतिथि शताब्दी समारोह वर्ष के अन्तर्गत अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर साप्ताहिक योग प्रशिक्षण शिविर एवं योग-अध्यात्म-शैक्षिक कार्यशाला के उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि नायक ने कहा कि आज योग को जीवन जीने की एक कला एवं विज्ञान के साथ-साथ औषधि रहित चिकित्सा पद्धति के रूप में लोकप्रियता मिल रही है।
Gorakhnath-Temple
उन्होंने कहा पिछले वर्ष 21 जून को ‘अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस’ के आयोजन में भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में करोड़ो लोगों ने भाग लिया और विश्व कल्याण के लिए योग पर अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की। योग को स्वस्थ जीवन जीने का विज्ञान मानते हुए आज देश-विदेश के बड़े-बड़े मेडिकल संस्थानों के चिकित्सक और वैज्ञानिक इस स्तर पर अनुसंधान करने में लगे हुये हैं।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे गोरक्षपीठाधीश्वर एवं गोरखपुर के सांसद महन्त योगी आदित्यनाथ ने कहा कि श्रीगोरक्षपीठ एक योग पीठ है। चरम सत्य के अन्वेषण में तार्किक एवं बौद्धिक प्रक्रियाओं की सीमाओं एवं अपूर्णताओं का अनुभव कर भारतीय मनीषियों ने आध्यात्मिक अनुशासन का मार्ग अपनाया। वस्तुतः आध्यात्मिक अनुशासन ही योग है। जिसमें हमारी भौतिक चेतना आध्यात्मिक स्तर तक पहुॅचकर परम सत्य के प्रकाश को धारण करने में समर्थ हो जाती है।
People-at-the-function-at-Gorakhnath-Templeउन्होंने कहा कि यह वर्ष 20वीं शताब्दी के महान सिद्ध योगी योगिराज बाबा गम्भीरनाथ जी की पुण्यतिथि शताब्दी वर्ष है। ऐसे में यह पूरा आयोजन उन्हीं को समर्पित है।
पहले साप्ताहिक योग शिविर सितम्बर में हुआ करता था किन्तु इस वर्ष से यह शिविर अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के साथ जुड़ा है। इस योग शिविर के साथ महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद की शिक्षण संस्थाओं के शिक्षकों, प्राचार्यो की शैक्षिक कार्यशाला भी जुड़ी है। शैक्षिक गुणवत्ता के क्षेत्र में यह एक नया प्रयोग है। श्रीगोरक्षपीठ शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी सेवा और साधना को अद्यतन बनाये रखने हेतु सचेष्ठ है।
Union-Minister-Sripad-Naik-with-Adityanathहमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb
AD4-728X90.jpg-LAST

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *