गोरखपुर

छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग को लेकर छात्र नेता सचिन शाही, मनीष ओझा ने सौंपा ज्ञापन

अरविन्द श्रीवास्तव
गोरखपुर: दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के अध्यक्ष पद प्रत्याशी सचिन शाही और महामंत्री पद प्रत्याशी मनीष ओझा के नेतृत्व में छात्र नेताओं के एक प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्य नियंता को ज्ञापन सौंप जल्द से जल्द छात्र संघ चुनाव कराने की मांग की। इस मौके पर महामंत्री पद प्रत्याशी मनीष ओझा ने कहा कि चिनाव स्थगित कराना अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की साजिश है क्योकि भगवा संगठन 13 सितम्बर को होने वाले चुनाव में सभी सीट हार रही थी।

छात्र नेता मनीष ओझा ने कहा कि परिषद को अपनी सीट खतरे में नजर आ रही थी। इसलिए जानबूझ कर विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता 11 सितंबर को हाथापाई करने लगे ताकि छात्र संघ चुनाव टल जाए।

वहीँ इस सम्बन्ध में सचिन शाही का कहना था कि एक ही प्रदेश व एक ही जिले में दो तरह के कानून हैं। विश्वविद्यालय छोड़कर समस्त महाविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव कराए जा रहे हैं लेकिन वहीँ सीएम सिटी के गोरखपुर विश्वविद्यालय का चुनाव स्थगित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह कहाँ का न्याय है। उन्होंने ज्ञापन सौंप छात्र संघ चुनाव जल्द से जल्द कराये जाने की मांग की।

सचिन का कहना था कि विवि प्रशासन छात्र नेताओं के साथ सौतेला व्यवहार कर रहा है। विवि प्रशासन शिक्षक संघ एवं कर्मचारी संघ चुनाव कराने को लेकर कभी भी इन्कार नहीं करता है। जब छात्र संघ चुनाव कराने की बारी आती है तो छोटी सी घटना को लेकर चुनाव कराने से इन्कार कर देता है।

इस मौके पर कुलदीप तिवारी, शिवम चौधरी, सुमित पाण्डेय, आशीर्वाद यादव, अभिनंदन दुबे, अंशुमान भट्ट, नीतेश शुक्ल पूर्व पुस्तकालय मंत्री, अरविंद पासवान, आदि दर्जनों छात्र उपस्थित रहे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *