गोरखपुर

शिक्षक संघ ने सीएम से किया शिक्षकों के अविलम्ब विनियमितिकरण की मांग, सौंपा ज्ञापन

गोरखपुर: अनुदानित महाविद्यालयों के स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षकों का अभी तक विनियमितिकरण नहीं हो पाया है। इसी क्रम में अनुदानित महाविद्यालय स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षक संघ ने शिक्षकों के विनियमितिकरण के लिए आज गोरखनाथ मन्दिर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। यह ज्ञापन गोरखपुर विश्वविद्यालय अनुदानित महाविद्यालय स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षक संघ के अध्यक्ष डां राजेश मिश्र एवं महामंत्री डां.अमरेन्द्र चौबे के नेतृत्व में सौपा गया।

शिक्षक संघ के गोरखपुर विश्वविद्यालय इकाई के अध्यक्ष डां.राजेश मिश्रा ने कहा कि अनुदानित महाविद्यालय विश्वविद्यालय स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षक संघ द्वारा प्रदेश की पूर्ववर्ती बसपा एवं सपा सरकारों के कार्यकाल से ही विगत 18 वर्षो से अनुदानित महाविद्यालयों के स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षको को विनियमित करने सहित कुछ अन्य मांग की जाती रही है। लेकिन अब तक किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया।

शिक्षक संघ की प्रमुख मांग :-

1. उत्तर प्रदेश के अनुदानित महाविद्यालयो में संचालित स्ववित्तपोषित पाठ्यक्रमो को वर्ष-2006 की भाँति अनुदान सूची पर लेते हुए ऐसे पाठ्यक्रमों में कार्यरत स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षको को विनियमित किया जाय।
2. केन्द्र सरकार की राष्ट्रीय उच्च शिक्षा गुणवत्ता प्रोत्साहन योजना के तहत नैक “ए” की अनिवार्यता वाध्यता को समाप्त कर प्रदेश के अनुदानित महाविद्यालयों में कार्यरत सभी स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षको को उक्त योजना के अनुसार लाभान्वित किया जाय।
3. उत्तर प्रदेश के अनुदानित महाविद्यालयों में कार्यरत स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षिको समान कार्य समान वेतन के अनुरुप यू.जी.सी.द्वारा निर्धारित न्यूनतम वेतनमान प्रदान किया जाय।
4. उत्तर प्रदेश के अनुदानित महाविद्यालयों में संचालित स्ववित्तपोषित पाठ्यक्रमों को अनुदान सूची पर लेते हुए इनमें कार्यरत स्ववित्तपोषित शिक्षको को विनियमित कर भविष्य में अनुदानित महाविद्यालयों में स्ववित्तपोषित पाठ्यक्रमों की मान्यता/सम्बद्धता बन्द कर एक ही संस्थान में दोहरी व्यवस्था को समाप्त किया जाय।

बता दें कि 2017 में भाजपा सरकार आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उच्च शिक्षा मंत्री डां दिनेश शर्मा ने शिक्षक संघ प्रतिनिधियो के साथ बैठक कर अनुदानित महाविद्यालयो के स्ववित्तपोषित अनुमोदित शिक्षको के विनियमितिकरण की सहमति हुई थी। लेकिन निर्णय के बावजूद अभी तक शिक्षको का विनियमितिकरण सम्पन्न नहीं हो सका।

इस अवसर पर डां अखण्ड सिंह कौशिक, डां.संजय मिश्र, डां.संजय श्रीवास्तव, डां.पंकज तिवारी, डां.सुनील प्रसाद, डां.फणीन्द्र तिवारी, डां.पवन गुप्ता, डां.अखिलेश मिश्रा, डां.अनुराधा सिंह, डां.क्षमता श्रीवास्तव, डां.मधुलिका श्रीवास्तव, डां.सगीता त्रिपाठी आदि शिक्षक व शिक्षिकाएं उपस्थित रही।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *