गोरखपुर

11 और 12 जुलाई को गोरखपुर में बनेंगे दो नए विश्व रिकॉर्ड

Image-for-representationगोरखपुर: मंडल में पहले से विश्व फलक पर चमक रहे एकलौते गीता प्रेस उसके बाद विश्व का सबसे लम्बा प्लेटफार्म की उपलब्धियों के बाद अब अगले सप्ताह दो विश्व रिकार्ड बनने जा रहा है । पहला सबसे ज्यादा पौधा लगाने का तो दूसरा विश्व का सबसे बड़ा समोसा बनाने का। तो रहिए ना बेखबर 11 व 12 जुलाई को विश्व फलक पर गोरखपुर मंडल का नाम चमकेगा।
11 जुलाई को ऑपरेशन क्लीन यूपी, ग्रीन यूपी में 25.65 लाख पौधरोपण कर बनेगा विश्व रिकार्ड
पूरे उत्तर प्रदेश में 11 जुलाई को पांच करोड़ पौधे लगाकर वन विभाग गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में अपना नाम दर्ज कराएगा। इसी के तहत गोरखपुर मंडल में 25.65 लाख पौधों का रोपण किया जाएगा। पौधरोपण की तैयारी पूरी कर ली गई है।
कमिश्नर सहित जिले के अन्य सभी अधिकारी तथा प्रभारी मंत्री व अन्य नेता भी इस कार्यक्रम में अलग-अलग स्थानों पर शिरकत करेंगे। पौधरोपण के समय ऑडिटर और गवाह भी मौजूद रहेंगे।पूरा डाटा कंप्यूटर में फीड किया जाएगा। इसके फोटोग्राफ व विडियो रिकार्डिंग भी कंप्यूटर में लोड होगी।
यह जानकारी मुख्य वन संरक्षक आरआर जमुआर ने दी। उन्होंने बताया कि पौधरोपड़ कार्यक्रम में 450 विद्यालयों के 11000 छात्र भी शामिल होंगे। इसके लिए 1320 ऑडिटर एवं 1320 गवाह भी नियुक्त किए गए हैं। इसमें सीमा सुरक्षा बल, रेलवे सुरक्षा बल,एअरफोर्स के जवान तथा स्वयं सेवी संस्थाओं एवं संभ्रांत व्यक्तियों द्वारा इसमें योगदान दिया जाएगा।
पौधरोपण का कार्यक्रम चुनाव मोड में होने जा रहा है। इसके लिए सेक्टर प्रभारी बीडीओ को बनाया गया है। तहसीलदार को जोनल, तथा एसडीएम को सुपर मजिस्ट्रेट बनाया गया है। इतना ही नहीं सीएमओ की तरफ से हर साइट पर स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी लगाए जाएंगे। पौध रोपण के समय किसी के कटनेऔर चोट लगने पर तुरंत उपचार किया जाएगा।
वहीं बस्ती एवं आजमगढ़ मंडल के मुख्य वनसंरक्षक विभात रंजन ने कहा कि ग्रीन यूपी क्लीन यूपी के तहत 11 जुलाई को आजमगढ़ व बस्ती दोनों रेंजों को मिलाकर 29.50 लाख पौधरोपड़ किया जाएगा। प्रत्येक रोपण स्थल पर फर्स्ट एड के साथ चिकित्सा विभाग की टीम मौजूद रहेगी। इस दौरान 22 प्रजातियों के पौधे लगाए जाएंगे। अधिकांश पौधे सड़क एवं नहर की पटरियों पर लगाए जाएंगे।
जमुआर एवं रंजन ने जनता से भी अपील की है कि हर कोई 11 जुलाई को किसी न किसी पौधरोपण स्थल पर अवश्य पहुंचे।
गोरखपुर मण्डल में दूसरा विश्व रिकार्ड 12 जुलाई को बनने जा रहा है।
अमूमन नाश्ते में समोसे का नाम लेते ही मुंह में पानी आ जाता है, जीभ चटकारे मारने लगती है। वास्तविक रूप से समोसा है ही इतना लजीज के इसको खाए बिना कोई रह ही नहीं सकता,लेकिन जरा सोचिए जब समोसा 350 किलोग्राम वजनी हो तो कैसा लगेगा?
बस, थोड़ा इंतजार और कीजिए, मण्डल के महाराजगंज जनपद के लड़कों की एक टीम दुनिया का सबसे बड़ा समोसा बनाने जा रही है।
दरअसल, दुनिया की सबसे बड़ी जलेबी का विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले कटहरी के युवाओं से प्रेरित होकर गिनीजई बुक ऑफ द वर्ल्ड रिकॉर्ड में सिसवा का नाम दर्ज कराने के लिए सिसवा के युवाओं ने कमर कस ली है।
यूपी के महाराजगंज में युवकों की टीम 12 जुलाई को नगर के श्री आदि शक्ति भुअरी माता मंदिर के पास 350 किलोग्राम का दुनिया का सबसे बड़ा समोसा बनाने की तैयारी कर रही है।
कोठीभार क्षेत्र के गोपाल नगर मुहल्ला निवासी रितेश सोनी और उनकी दस सदस्यीय टीम पिछले एक सप्ताह से समोसा बनाने की तैयारी में जुटी हुई है।
रितेश ने बताया कि गिनीज बुक ऑफ द वर्ल्ड रिकॉर्ड में अब तक 110 किलोग्राम का समोसा दर्ज है। यह इंग्लैंड के व्यक्ति के नाम दर्ज है। इस रिकॉर्ड को तोड़ने और जनपद का नाम विश्व पटल पर स्थापित करने के उद्देश्य से
350 किलोग्राम का समोसा बनाने की तैयारी चल रही है। इसमें लगभग पचास हजार रुपये की लागत आने की संभावना है। समोसा बनाने में हेवती निवासी गोपाल, चनकौली निवासी रामानंद और कस्बा निवासी नवीन तिवारी, राजेश वर्मा, नवीन मद्धेशिया, कन्हैया और कुंदन राय मिलकर काम कर रहे हैं।
हमारा फेसबुक पेज LIKE करना न भूले:
fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *