गोरखपुर

दयाशंकर की पत्नी-बेटी के लिए अभद्र शब्दों के प्रयोग पर खामोश क्यों हैं मायावती: केशव

UP-BJP-chief-Keshav-Prasad-गोरखपुर: बीजेपी प्रदेश अध्य्क्ष केशव प्रसाद मौर्या ने शुक्रवार को बसपा सुप्रीमो मायावती से कहा की निलम्बित भाजपा नेता दयाशंकर सिंह की बेटी के लिए अपशब्द बोलने वाले अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्यवाही करे।
यहाँ गोरखपुर में एक टीवी चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा की भाजपा ने दयाशंकर सिंह के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करते हुए उन्हें पार्टी से निलम्बित कर दिया। लेकिन क्या मायावती दयाशंकर सिंह की बेटी के लिए गलत शब्दों का इस्तेमाल करने वाले अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ ऐसा कदम उठाएंगी?
भाजपा के पूर्व नेता दयाशंकर सिंह की मायावती पर विवादित टिप्पणी के विरोध में लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पर हुए प्रदर्शन में बसपाइयों ने दयाशंकर के पूरे परिवार पर हमला बोला। पत्नी-बेटी पेश करो जैसे नारे लगाए। टीवी पर नारे सुनकर दयाशंकर की स्कूल में पढ़ने वाली बेटी सदमे में चली गई।
दयाशंकर सिंह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए मंगलवार को कहा था की जो सपना काशीराम ने देखा था, उसे मायावती चूर-चूर कर रही हैं। मायावती दिन में जो टिकट एक करोड़ का बेचती हैं, वही टिकट अगर कोई दो करोड़ का चाहे तो उसे दे देती हैं। उनका चरित्र एक वेश्या की तरह है। बसपा अब समाप्त हो रही है। विधानसभा चुनाव में उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।
इस विवादास्पद बयान के बाद बीजेपी ने उन्हें तत्काल प्रभाव से पार्टी के उपाध्यक्ष पद से हटा दिया था।
केशव मौर्या ने कहा था कि हालांकि दयाशंकर सिंह ने मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी के लिए माफी मांग ली है लेकिन उनका बयान सही नहीं है। उन्हें पार्टी की सभी जिम्मेदारियों से तत्काल प्रभाव से मुक्त किया जाता है। दयाशंकर सिंह ने मायावती पर एक विवादित बयान देकर राजनीतिक गलियारे में सनसनी मचा दी है। भाजपा नेता ने मायावती की तुलना वेश्या से की है।
बसपा सुप्रीमो मायावती पर उत्तर प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह की अमर्यादित टिप्पणी पर चौतरफा लानत-मलानत होने से पहले ही भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने तुरंत आगे आकर दयाशंकर के बयान के लिए माफी मांगी थी।
बसपा सुप्रीमो मायावती ने राज्यसभा में कहा था की भाजपा नेता ने यह बयान मायावती के लिए नहीं, बल्कि अपनी बेटी-बहन के लिए कहे हैं। पूरा देश भाजपा को माफ नहीं करेगा। माफी मांगने से कुछ नहीं होगा। भाजपा नेतृत्व उन्हें पार्टी से निकाले। भाजपा नेता संज्ञान लें और कार्रवाई करें वर्ना लोग सड़कों पर उतरे तो मेरी जिम्मेदारी नहीं होगी।
वहीं इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्यसभा में दयाशंकर सिंह के बयान की निंदा की थी और कहा था की मैं स्वयं इस बयान से आहत हुआ हूं।

fb

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *