गोरखपुर

जेई/एईएस की रोकथाम हेतु नगर निगम में आहूत कार्यशाला सम्पन्न

गोरखपुर: जेई/एईएस के रोकथाम हेतु महापौर सीताराम जायसवाल, नगर आयुक्त प्रेम प्रकाश सिंह, मुख्य नगर स्वास्थ्य अधिकारी डा मुकेश कुमार की अध्यक्षता में अपरान्ह एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। उक्त कार्यशाला में डा वीके श्रीवास्तव,एन्टोमोलाजिस्ट,अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार मण्डल, गोरखपुर द्वारा इस बीमारी के सन्दर्भ में जानकारी एवं बचाव हेतु प्रशिक्षण दिया गया।

जेईएस को तीन चरण में बाॅटते हुए बताया कि प्रथम चरण में सर दर्द, बुखार,ठण्ड लगना, थकान, मितली एवं उल्टी तथा द्वितीय चरण में गले एवं शरीर की माॅस पेशियों में अकडन, निर्जलीकरण, चेहरे पर कठोरता, असामान्य तरीके चलना तथा तृतीय चरण में भारी आवाजए धीर-धीरे बात करना, बोलने में परेशानी आदि को बताया गया।

श्री श्रीवास्तव द्वारा जेई/एईएस के बचाव के बारे में विस्तृत रूप से बताया कि प्रातः एवं सायंकाल जब मच्छर अधिक सक्रिय होते है, उस समय शरीर को पूरा ढ़क कर रखना चाहिए, मच्छरदानी आदि का उपयोग करे, घर की खिड़की,दरवाजे को जाली से बन्द रखे,आस-पास पानी इकट्ठा न होने दे, नालियों की सफाई एवं बहाव सुनिश्चित रखे,कूडे़ को इधर-उधर न डाले, डस्टबिन का प्रयोग करे, खुले में शौच न करे, शौचालय बनवाये एवं प्रयोग करे व मानव एवं पशु मल को नाले में न डाले यह दण्डनीय अपराध है।

कार्यशाला में नगर आयुक्त सभी सफाई सुपरवाइजर एवं सफाई निरीक्षको को निर्देशित किया गया कि आप सभी वार्डो में गठित स्वच्छता वातावरण प्रोत्साहन समिति के माध्यम से जेई के बचाव के बारे में कार्यशाला आहूत कर सभी को उक्त के बचाव के बारे में बताए साथ ही जे0ई पूर्व प्रभावित क्षेत्रों की बेहतर तरीके से सफाई कराये एवं विशेष कर मलिन बस्तियों की सफाई पर विशेष ध्यान देते हुए सफाई अभियान चलाये।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *