नयी सरकार के गठन के बाद भी देवरिया में जारी है धड़ल्ले से सरकारी डाक्टरों की प्राइवेट प्रैक्टिस

देवरिया: जिले में नयी सरकार के गठन के बाद भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी डाक्टरों के प्राइवेट प्रैक्टिस करने वालों डाक्टरों के खिलाफ सख्त कदम के बाद भी यहां धड़ल्ले से सरकारी डाक्टरों की प्राइवेट प्रैक्टिस जारी है।

शिवसेना के गोरखपुर मण्डल प्रमुख दिग्विजय चौबे ने यहां कहा कि प्रशासनिक अफसरों तथा स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों के नाक के नीचे ये अवैध प्राइवेट प्रैक्टिस बर्षों से बदस्तूर जारी है।

उन्होंने आरोप लगाते हुये कहा कि आज भी बहुत सारे सरकारी डाक्टर बेधड़क प्राइवेट प्रैक्टिस करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि देवरिया सदर अस्पताल में तैनात डाक्टर एन के पाण्डेय, यूके पाण्डेय, एच के मिश्रा, राकेश कुमार, अजय शाही महिला अस्पताल में तैनात डाक्टर मंजरी मिश्रा आदि डाक्टर हैं, जो खुलेआम प्राइवेट प्रैक्टिस कर रहे हैं।

श्री चौबे ने आरोप लगाते हुये कहा कि प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने 14 अप्रैल को जिला अस्पताल का दौरा किया था और उन्होंने सरकारी डाक्टरों द्वारा की जा रही प्राइवेट प्रैक्टिस को हर हाल में बंद करने की बात कही थी। लेकिन इसके बाद भी यहां खुलेआम प्राइवेट प्रैक्टिस सरकारी डाक्टरों द्वारा जारी है।

इस सम्बन्ध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के सरकारी मोबाइल नम्बर 80051928532 पर बात की गई तो उनके मातहत ने फोन उठाया तथा कहे की सीएमओ साहब मिटिंग में है और कहा की सरकारी डाक्टरों द्वारा प्राइवेट प्रैक्टिस गलत है। अगर कोई ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।

Martia Jewels
Martia Jewels
Martia Jewels