अनंतनाग हमले के बाद के मद्देनजर कांवड़ यात्रा के लिए हाई अलर्ट, योगी ने जारी किए दिशा निर्देश

लखनऊ: जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग जिले में तीर्थयात्रियों पर हुए आतंकवादी हमले के बाद उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। दिल्ली मुंबई समेत कई महानगरों में सुरक्षा के इंतजाम पुख्ता किए गए हैं। वहीं कांवड़ यात्रा को लेकर भी हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अधिकारियों को सकुशल कांवड़ यात्रा कराने के निर्देश दिेए हैं।

यूपी पुलिस के एडीजी (लॉ एंड आर्डर) आनंद कुमार ने सभी जिलों के एसपी को कांवड़ यात्रा के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम के निर्देश दिए हैं। अमरनाथ यात्रियों पर हमले के मद्देनजर यूपी में होने वाली कांवड़ यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका बढ़ गई है। कुछ दिन पहले ही खुफिया एजेंसियों ने कांवड़ यात्रा को लेकर अलर्ट जारी किया था।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांवड़ यात्रा के मद्देनजर सभी जिलों के एसपी को सुरक्षा के निर्देश दिए गए हैं। डीजीपी और प्रमुख सचिव इस पर कड़ी नजर रखेंगे। श्रद्धालु सुबह 6 से रात 10 बजे तक लाउडस्पीकर इस्तेमाल कर सकते हैं। पुलिस उन्हें नहीं रोकेगी। कांवड़ समिति प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। श्रद्धालु को अपने पास आईडीप्रूफ रखना होगा।

बताते चलें कि खुफिया एजेंसियों के अलर्ट के मद्देनजर बुलंदशहर के एसएसपी मुनिराज सिंह ने सादे कपड़ों में साइकिल से सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। इस दौरान एसएसपी ने लापरवाह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया। उन्होंने कई किलोमीटर तक सुरक्षा जायजा लिया। इस दौरान डायल 100 के पुलिसकर्मी उनको पहचान नहीं पाए।

हर साल सावन महीने में कांवड़ यात्रा की जाती है। लाखों की तादाद में कांवड़िये पैदल जाकर पवित्र गंगाजल अपने घर लाते हैं। गंगाजल से घर के पास स्थित शिव मंदिर में शिवलिंग का अभिषेक किया जाता है। दिल्ली, यूपी और आसपास के राज्यों में रहने वाले लोग हरिद्वार से गंगाजल लेकर आते हैं। बिहार और पूर्वांचल के लोग सुल्तानगंज जाते हैं।