संदिग्ध परिस्थितियों में मिला आईएएस अनुराग तिवारी का शव

लखनऊ: राजधानी के हजरतगंज थानाक्षेत्र के मीराबाई गेस्ट हाउस पर 2007 के कर्नाटक बैच के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी का सन्दिग्ध अवस्था मे सड़क किनारे शव मिला है। उनके शरीर और चेहरे पर घाव के निशान बताये जा रहे हैं।

राजधानी में इस तरह आईएएस अफसर की मौत से प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया है।आनन फानन में जब शव को अस्पताल ले जाया गया तो उन्हें देखने के लिए डीएम-एसएसपी सहित आईपीएस, आईएएस अफसरों की लाइन लग गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के बहराइच जनपद के मूल निवासी और कर्नाटक 2007 बैच के IAS अधिकारी अनुराग तिवारी मसूरी से ट्रेनिंग पूरी करके लखनऊ आए थे और मीराबाई मार्ग स्थित सरकारी गेस्ट हाउस के रूम नंबर 16 में रुके थे। यह कमरा रजिस्टर के मुताबिक एलडीए के वीसी पीएन सिंह के नाम से अलॉट है । जहां वह दो दिन से रुके थे और आज सुबह 8 बजे मोर्निंग वाक के ल‍िए न‍िकले।

काफी देर बाद उस राह से गुजरने वाले राहगीरों ने मुकामी पुलिस को सड़क किनारे एक लाश होने की जानकारी दी तो मौके पर पहुंची पुलिस ने उनके आइडेंटिटी कार्ड के आधार पर पहचान कर उच्चाधिकारियों को सूचित करते हुए उनका शव अस्पताल पहुंचाया।

अपने पिता की तीन संततियों में अनुराग सबसे छोटे थे।उनके दो बड़े भाई आईबीएम कम्पनी में कार्यरत है। वर्ष 2009 में विवाह और 2016 में डाइवोर्स के बाद अनुराग तिवारी काफी दिनों तक डिप्रेसन में रहे। आज ही उनका जन्मदिन था और वह छुट्टी लेकर अपने घर बहराइच जाने वाले थे कि यह घटना हो गयी।