सीएम आगमन से पूर्व ही दिखा जलजला, मण्डलायुक्त ने करवाया सरकारी कार्यालयों का औचक निरीक्षण

गोरखपुर: जनपद में नए सीएम आदित्यनाथ योगी के आने से पहले ही जलजला दिखने लगा है। सरकारी कार्यालयों में समय से अधिकारियों एंव कर्मचारियों की उपस्थिति दर्ज कराने तथा कार्य संस्कृति विकसित करने के उद्देश्य से मण्डलायुक्त अनिल कुमार ने अपने अधिनस्थ वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से कुछ सरकारी कार्यालयों का पूर्वान्ह 10 बजे से 10.45 बजे तक औचक निरीक्षण कराया। निरीक्षण में काफी संख्या में अधिकारी एंव कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये।

मण्डलायुक्त अनिल कुमार ने इसे गंभीरता से लेते हुए जहां बेहद नाराजगी व्यक्त की है वहीं अनुपस्थित अधिकारियों एंव कर्मचारियों को कड़ी चेतावनी जारी करते हुए उनका एक दिन (24 मार्च) के वेतन कटौती का निर्देश दिया है। इसके साथ ही संबंधित अधिकारियों एंव कर्मचारियों से स्पष्टीकरण भी मांगा है।

मण्डलायुक्त ने चेताया है कि अब जो अधिकारी/कर्मचारी निर्धारित समय में कार्यालय नही आयेंगे उनके विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही की जायेगी। मण्डलायुक्त ने निर्देश पर अपर आयुक्त श्याम धर पाण्डेय ने आज 8 सरकारी कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया। सम्भागीय परिवहन अधिकारी के कार्यालय में 10.45 बजे तक 2 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये, पुराने कार्यालयीन रिकार्ड काफी अव्यवस्थित एंव धूल धक्कड़ से भरे पाये गये।

अधिशासी अभियंता प्रान्तीय खण्ड लोनिवि गोरखपुर में सहायक अभियंता वेद प्रकाश सहित 3 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। अधिशासी अभियंता कार्यालय निर्माण खण्ड-2 में निरीक्षण के समय अधिशासी अभियंता राम जी प्राद, सहायक अभियंता घनश्याम यादव तथा पंकज कुमार सिंह अनुपस्थित पाये गये, अन्य 45 कर्मचारियों में 15 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। मुख्य अभियंता लोनिवि गोरखपुर के कार्यालय निरीक्षण के दौरान 3 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये।

इसी तरह अधीक्षण अभियंता गण्डक सिंचाई कार्य द्वितीय में अधीक्षण अभियंता आर डी यादव अनुपस्थित पाये गये, 6 और कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। कार्यालय में पत्रावलिया अव्यवस्थित एंव धूल से भरी मिली। अधीक्षण अभियंता सिंचाई के कार्यालय में अधीक्षण अभियंता ईश्वरी प्रसाद अनुपस्थित थे, अन्य 18 कर्मचारियों में 6 अनुपस्थित पाये गये। कार्यालय गण्डक सिंचाई कार्य प्रथम गोरखपुर के कार्यालय के निरीक्षण के समय अधीक्षण अभियंता अरूण कुमार उपस्थित नही थे, अन्य 21 कर्मचारियों में 3 अनुपस्थित पाये गये। अधिशासी अभियंता नलकूप गोरखपुर मण्डल के निरीक्षण के दौरान 27 कर्मचारियों में 4 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये।

मण्डलायुक्त के निर्देश पर संयुक्त विकास आयुक्त अमजद अली अंसारी ने भी लगभग आधा दर्जन कार्यालयों का निरीक्षण किया। संयुक्त शिक्षा निदेशक (माध्यमिक) के कार्यालय में 4 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। उप निदेशक माध्यमिक के कार्यालय में उप शिक्षा निदेशक सहित प्रशासनिक अधिकारी और 5 अन्य कर्मचारी भी अनुपस्थित पाये गये। पत्रावलियों का रखरखाव भी सही नही मिला।

जिला विद्यालय निरीक्षक के कार्यालय निरीक्षण के दौरान प्रशासनिक अधिकारी श्रीमती कंचन गौड़ के साथ ही 9 अधिकारी/कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। पत्रावलियों का रख रखाव भी सही नही पाया गया। सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक के कार्यालय के निरीक्षण में 6 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। पत्रावलिया की सफाई भी ठीक नही पायी गयी। मुख्य अभियंता जलनिगम के कार्यालय में 11 अधिकारी/कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये।

अधीक्षण अभियंता जलनिगम के कार्यालय में स्वंय अधीक्षण अभियंता डी0पी0 मिश्र सहित 15 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। साफ सफाई अत्यंत खराब थी, पत्रावलियों का रखरखाव भी बहुत खराब था। मुख्य अभियंता विधुत के कार्यालय में मुख्य अभियंता ए0के0 श्रीवास्तव सहित 4 कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये।