जायका पूर्वांचल का

खजला बिना गोरखपुर खिचड़ी मेला अधूरा

खजला बिना गोरखपुर खिचड़ी मेला अधूरा

नीतीश गुप्ता
गोरखपुर: अपने शहर गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर पूरे विश्व मे प्रसिद्ध है। यहाँ पर जनवरी माह में लगने वाले गोरखपुर खिचड़ी मेला बहुत महत्व है और अब जब कि मंदिर के महंत योगी आदित्यनाथ प्रदेश के मुख्यमंत्री भी हैं तो इस बार की खिचड़ी का सबको इंतजार है।

खिचड़ी मेला आते ही गोरखनाथ मंदिर परिसर में खजला बेचने वालों की दुकान सज गयी है। इसी बात पर हम भी पंहुच गए गोरखनाथ मंदिर। मंदिर परिसर में खजला की कई दुकानें लग गयी हैं।

कानपुर से यहाँ आकर खजला का दुकान लगाने वाले सुखवेंद्र कुमार से जब हमने बात की तो उन्होंने बताया कि वो पिछले 30 सालों से मंदिर परिसर में खिचड़ी मेला के वक्त दुकान लगाते है। उन्होंने बताया कि वो मेला शुरू होने से 15 दिन पहले से दुकान लगा देते है और लगभग 15 फरवरी तक दुकान लगी रहती है।

gorakhpur khichdi mela

gorakhpur khichdi mela

Gorakhpur Final Report से बात करते हुए सुखवेंद्र ने बताया कि उनकी दुकान सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक खुली रहती है जहाँ खजला लेने के लिए ग्राहकों की भीड़ लगी रहती है। उन्होंने बताया कि उनके दुकान पर खोवे वाले खजले के साथ-साथ नमकीन खजला भी मिलता है।

मेले में लगने वाले दुकान पर खोवे वाले खजले कि ज्यादा मांग रहती है। आपको बताते चले कि खिचड़ी मेले में लगने वाले खजले कि दुकान तमाम शहरों से जैसे बस्ती, बासी, बरेली, उन्नाव आदि से लोग आ कर यहाँ खजला बेचते हैं।

जब हमने वहां खजला खरीद रहे ग्राहकों से बात किया तो एक ग्राहक आशीष ने बताया कि वो खिचड़ी मेले का इंतजार ही इसीलिए करते है क्योंकि खजला बस इसी मेले में मिलता है। वहीँ रोहित ने बताया खिचड़ी मेले में जो खजला बिकता है वो इतना स्वादिस्ट होता है कि जिसका कोई जवाब नही।

तो अगर आप भी खजला खाने के शौकीन है तो आप गोरखनाथ मंदिर परिसर में जा कर इसका आनंद उठा सकते है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *