जरूर पढ़े

छत्तीसगढ़ का 'निनवा' हुआ खुले में शौच से मुक्त; कब बहुरेंगे पूर्वांचल के दिन!

A-woman-of-Ninwa-village-inरायपुर: छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले का ग्राम पंचायत निनवा ने ग्रामीणों के सामूहिक प्रयास से खुले में शौचमुक्त गांव होने की उपलब्धि तीन महीने में ही पा ली है।
निनवा के सरपंच गिरेंद्र साहू ने बताया कि निनवा ग्राम पंचायत रायपुर जिले की खुले में शौच से मुक्त होने वाली पहली ग्राम पंचायत है। स्वच्छ भारत अभियान के तहत निनवा में पिछले वर्ष 11 मार्च से अभियान की शुरुआत हुई, लोगों को स्वच्छता और स्वास्थ्य के महत्व को बताने के लिए वे स्वयं, पंचों और ग्रामीणों के दल के साथ घर-घर गए और ग्रामीणों को घरों में शौचालय के निर्माण कराने के लिए प्रोत्साहित किया।
सरपंच ने ग्रामीणों को यह भी बताया गया कि खुले में शौच से पर्यावरण प्रदूषण तो होता ही है, संक्रामक बीमारियों का खतरा भी बना रहता है। स्वस्थ्य पर्यावरण के लिए यह जरूरी है कि सभी लोग अपने घरों में शौचालय का निर्माण कराएं और उसका उपयोग भी करें।
ग्रामीणों को यह भी बताया गया कि वे अपने घरों कोए कुओं, हैंडपम्पों और अन्य जलस्रोतों के आस-पास भी साफ-सफाई रखें।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रायपुर जिले की निनवा ग्राम पंचायत को खुले में शौच से मुक्त होने पर ग्रामवासियों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री से निनवा के सरपंच गिरेंद्र साहू ने यहां उनके निवास पर उनसे सौजन्य मुलाकात की।
सरपंच साहू ने बताया कि लगभग 21 सौ की आबादी वाली इस ग्राम पंचायतों में 350 घर हैं। इनमें से 77 घरों में पहले से शौचालय बने थे। ग्रामीणों को प्रोत्साहित कर 234 घरों में शौचालयों का निर्माण कराया गया। ग्रामीणों को शासकीय योजना के अंतर्गत शौचालय निर्माण के लिए बारह हजार रुपये मिले।
कई ग्रामीणों ने अपने घरों में 40 से 45 हजार रुपये खर्च कर बड़े शौचालय बनवाए। लगातार समझाए जाने के बाद ग्रामीण अब घर में बने शौचालयों का उपयोग करने लगे हैं। सभी घरों में शौचालय बनाने का काम पिछले वर्ष 29 मई को पूरा हुआ और निनवा रायपुर जिले की पहली खुले में शौच मुक्त ग्राम पंचायत बनी।

fb
AD4-728X90.jpg-LAST

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *