अब कालेजों की तर्ज पर परिषदीय स्कूलों के बच्चे भी प्रयोगशाला में करेंगे प्रयोग

गोरखपुर: अब जिले के इण्टर कालेजों के छात्रों की तरह अब परिषदीय स्कूलों के बच्चे भी प्रयोगशाला में प्रयोग करते नजर आएंगे। प्रदेश शासन ने इसके लिए धन अवमुक्त किया है। सूबे के बेसिक शिक्षा विभाग ने साइंस किट के लिए 1045 परिषदीय स्कूलों को 8-8 हजार रुपया जारी भी कर दिया है। स्कूल प्रबंधन के खाते में रकम भेजी गई है।छात्रों को प्रयोग करने के लिए 40 स्कूलों में अत्याधुनिक लैब भी बनकर तैयार हो गया है।

बता दें कि प्रदेश शासन की पहल पर जिले के 834 जूनियर हाई स्कूल, 10 मदरसा, 84 सहायता प्राप्त और 117 अनुदानित स्कूलों में पढ़ने वाले करीब 90 हजार बच्चे अपने-अपने स्कूलों में पढ़ाई के साथ-साथ विज्ञान विषय से सम्बन्धित जानकारी भी ग्रहण कर सकेंगे।

इनमें से 40 स्कूलों में अत्याधुनिक लैब का निर्माण कराया गया है। शेष 1005 स्कूलों के एक-एक कमरे में प्रयोगशाला बनाई गई है। बच्चे विज्ञान से सम्बधित प्रयोग करेंगे। विभाग द्वारा भेजे गए धन से स्कूल प्रबंधन साइंस किट खरीदेगा। इसमेंसूक्ष्मदर्शी, जनरेटर, माइक्रोस्कोप सहित 132 छोटे-बड़े सामान शामिल होंगे।

इस सम्बन्ध में डीसी प्रशिक्षण प्रभारी सुनील कुमार चौबे के कथनानुसार सूची में शामिल सभी स्कूलों को साइंस किट के लिए धन भेज दिया गया है। एक सप्ताह के अन्दर स्कूल प्रबंधन को इस धन से साइंस से सम्बन्धित सामानों की खरीददारी कर लेनी है।जिससे बच्चे प्रयोग कर विज्ञानं सम्वन्धित जानकारी हासिल करेंगे।