दो दशक बाद चौरी-चौरा में खिला कमल, भाजपा की संगीता यादव के सिर जीत का ताज

गोरखपुर: चौरी-चौरा विधानसभा सीट से भाजपा की संगीता यादव जीत गयी हैं। उन्होंने सपा के मनुरोजन यादव व बसपा के जय प्रकाश निषाद को भारी मतों से हराया।

नये परिसीमन में मुंडेरा से चौरी-चौरा विधान सभा के रुप अस्तित्व में आए इस क्षेत्र में पहली बार (वर्ष 2012) बसपा ने जीत हासिल की थीं। इसी सीट (मुंडेरा बाजार) से शारदा देवी 5 बार जींती। चौरी-चौरा आंदोलन के लिए मशहूर इस क्षेत्र की पहचान चमड़ा उद्योग के रुप में दूर तक थी।

जंगे आजादी में अंग्रेजों के छक्के छुड़ाने वाला यह क्षेत्र काफी समय से उपेक्षित हैं। यहीं वजह हैं कि सपा सरकार को जनता ने नकार दिया। इस बार मोदी का ही जादू चला।।लम्बे समय तक शारदा देवी विधायिका रही। जनता ने पांच बार मौका दे दिया। लेकिन जनता ने पिछले चुनाव में अपना इरादा बदल दिया। जिससे बसपा का रास्ता हमवार हुआ।

यहां भाजपा, जेडी ने दो बार जीत हासिल की। कांग्रेस ने भी कई बार जीत हासिल की। इस बार बसपा ने तो पुराने महावत जय प्रकाश निषाद पर दोबारा भरोसा जताया था। वर्ष 1996 के बाद भाजपा यहां कभी नहीं जीती । कांग्रेस ने वर्ष 2007 में जीत हासिल कर सभी को चौंका दिया था। कुल मिलाकर यहां भाजपा मजबूत स्थिति में थीं। यहां 20 उम्मीदवार मैदान में थे जिसमें 7 निर्दलीय शामिल थे।
चौरी चौरा से यह थे उम्मीदवार

भाजपा – संगीता यादव
बसपा- जय प्रकाश निषाद
सपा – मनुरोजन यादव
पीस पार्टी व निषाद पार्टी गठबंधन- ईश्वर चन्द्र जायसवाल

चौरी-चौरा विधान सभा ( मुंडेरा बाजार) के विधायक
2017 – भाजपा – संगीता यादव
2012 – बसपा – जय प्रकाश निषाद
2007 – कांग्रेस – माधो प्रसाद
2002/1991/89/85/77 – सपा/जेडी/एलकेडी/जेएनपी – शारदा देवी
1996/1993 – भाजपा – बचन राम
1980 – आएनसी (आई) – पन्नेलाल
1974 – बीकेडी – फिरंगी प्रसाद