महराजगंज

महराजगंज: गोली लगने से घायल पूर्व प्रधान तेज प्रताप यादव की इलाज के दौरान मौत

–पूर्व ग्राम प्रधान की दुश्मनी का कयास। ग्रामीणों में भारी आक्रोश
–तेज प्रताप यादव हत्याकांड का खुलासा करना पनियरा पुलिस के लिए चुनौती
–इस हत्या कांड को लेकर तरह तरह की चर्चाओं का बाज़ार गर्म

मार्तण्ड गुप्ता
महराजगंज: जिले के पनियरा थाना क्षेत्र ग्राम सभा गोनहा के पूर्व ग्राम प्रधान तेज प्रताप यादव की इलाज के दौरान देर रात मौत हो गयी। बीते 24 जुलाई को रात 11 बजे अपने घर के बरामद सोये हुए पूर्व ग्राम प्रधान तेज प्रताप यादव को तीन अज्ञात बदमाशों ने पनियरा जाने का रास्ता पुछा और गोली मार कर फरार हो गए थे।

पूर्व प्रधान को आनन-फानन में परिजनों ने इलाज के लिए बीआरडी मेडिकल कालेज में भर्ती किया था। जहां उनकी हालत गंभीर होने के कारण परिजन गोरखपुर के ही सावित्री हास्पीटल में इलाज के लिए ले गये। किन्तु वहां भी तेज प्रताप यादव की हालत में जब कोई सुधार नहीं हुआ तो डाक्टरों ने पीजीआई लखनऊ के लिए रेफर कर दिया।

अभी थोड़ी ही दूर परिजन तेज प्रताप यादव को लेकर पहुंचे थे कि अचानक तबियत और खराब हो गयी और तेज प्रताप यादव ने देर रात दम तोड़ दिया। तेज प्रताप यादव की मौत को लेकर जहां ग्रामीणों में भारी आक्रोश है, वहीँ इस घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चाओं का बाज़ार भी गर्म है। लोगों के द्वारा इस बात का कयास लगाया जा रहा है कि आखिर तेज प्रताप यादव को किसने और क्यों गोली मारी है। तेज प्रताप यादव की किन लोगों से और किस तरह की दुश्मनी है। यह जांच का विषय है।

फिलहाल इस घटना का खुलासा करना पनियरा पुलिस के लिए एक चुनौती है। वैसे भी पनियरा पुलिस अब तक दर्जन भर से अधिक घटनाओं का खुलासा करने में नाकामयाब है। जन चर्चाओं के अनुसार तेज प्रताप यादव लकड़ी का कारोबार करते थे। जंगल से अवैध काटी गयी लकड़ी को पकड़वाने को लेकर कुछ लोगों से दुश्मनी थी तो कुछ लोग इसे प्रेम प्रसंग से जोड़ कर देख रहे हैं। फिलहाल इस हत्या का खुलासा करना पनियरा पुलिस के लिए एक चुनौती बनी हुई है।

इस मामले मेंं पनियरा पुलिस मु0अ0सं0 189/18 धारा 307 भादवि बनाम अज्ञात 3 व्यक्तियों के विरूूद्ध पंजीकृत कर घटना के अनावरण हेतु प्रयास में जूुटी हुई है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *