महराजगंज

महराजगंज: नरबलि देने के लिए गायब की गई मासूम बच्ची को ग्रामीणों ने बचाया

मार्तण्ड गुप्ता
महाराजगंज: जनपद के चौक थाना क्षेत्र के स्थानीय बाजार से गायब हुई मासूम बच्ची को गुरु पूर्णिमा पर नरबली चढ़ने से पहले ही ग्रामीणों की सूझ बूझ से बचा लिया गया। स्थानीय नागरिकों ने गन्ने के खेत से उसे उस समय बचाया जब एक महिला बलि की तैयारी व पूजा पाठ में लगी हुई थी। बच्ची के रोने की आवाज सुन कर कुछ लोग गन्ने की खेत की तरफ गये और महिला को भागते भी देखा। महिला अभी भी पुलिस पकड़ से दूर है।

जानकारी के अनुसार चौक ग्राम सभा के ही रहने वाले रामसमुझ के घर मुण्डन संस्कार में लोगो के मनोरंजन के लिए गुरुवार को आर्केस्ट्रा कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। आर्केस्ट्रा देखने आए गांव के ही जितेंद्र साहनी की बच्ची अचानक गायब हो गई। गायब बच्ची को परिजन रात दिन खोजते रहे। लेकिन काफी खोजबीन के बावजूद बच्ची नहीं मिली।

इस बात की जानकारी परिजन चौक थाने को दिए जहां चौक पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर जांच में जुट गई। लेकिन शुक्रवार की सुबह गांव के ही संजीव साहनी, अर्जुन साहनी, इंद्रजीत मद्देशिया नित्य क्रिया के लिये गन्ने की खेत के तरफ गए तो वहां से बच्ची के रोने की आवाज सुन कर वह लोग ठिठक गये। रोने की आवाज सबसे पहले गांव के ही संजीव साहनी ने सुनी और वह वहीं ठहर गए।

आस पास के लोगो को बुलाकर गन्ने के खेत के अंदर बढ़े तो वहां तंत्र मंत्र का सामान रखकर एक महिला मन्त्र जाप कर रही थी। लोंगो की आवाज सुनकर महिला वहां से भाग गई। उसके बाद उन लोगों ने बच्ची को उठाया और पुलिस को जानकारी दी। समाचार लिखे जाने तक महिला के बारे में पुलिस ने कुछ पता तो कर लिया है लेकिन अभी तक न तो महिला को गिरफ्तार कर सकी है और न ही उसका नाम पता बता रही है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *