महराजगंज

सिसवा के किराना व्यवसायी ने सेन्ट्रल बैंक को दिये 18 लाख 80 हज़ार के सौ के नोट

siswa-businessman-handed-10महराजगंज: 8 नवम्बर की मध्य रात्रि से बन्द हुये 1000 व 500 के नोट ने आम आदमी, गरीब और किसानों की मुश्किलें बढ़ा दी है। घण्टों लाइन में खड़े रहने के बाद बैंकों में बमुश्किल लोगों के नोट बदले जा रहे हैं। जनपद अन्तर्गत सिसवा कस्बे में बैंकों से कैश आउट की समस्या को देख किराना व्यवसायी शिवकुमार अग्रवाल ने सेन्ट्रल बैंक की सिसवा शाखा को 18 लाख 80 हज़ार रुपये देकर खाताधारकों को कुछ हद तक राहत दिया।
जनपद में बैंकों की दशा ये है कि अधिकांश बैंकों के ए टी एम पर ताला लटका हुआ है। बैंकों में प्रत्येक दिन दोपहर होते होते बैंकों से कैश आउट हो जा रहे हैं। छोटे नोट न होने से किसान खाद बीज के लिये परेशान हैं तो जिनके घरों में शादी है वे लोग भी बैंकों के चक्कर लगाने से हलकान हैं। ऐसे में सिसवा में किराना व्यवसायी के इस प्रयास की लोगों ने सराहना किया।
सेन्ट्रल बैंक सिसवा शाखा के शाखा प्रबन्धक ए के तिवारी ने बताया कि शिवकुमार अग्रवाल ने 19 नवम्बर को 3 लाख 70 हज़ार, 21 नवम्बर को 12 लाख तथा 23 नवम्बर को 3 लाख 10 हज़ार रुपये 100-100 के नोट अपने चालू खाते में जमा कराया है। जिसके चलते ग्राहकों को पुराने नोट बांटने में काफी सहूलियत मिली है।
बुधवार को बैंक में पैसा जमा करने आये शिवकुमार अग्रवाल ने बताया कि शादी-विवाह के इस सीजन में गरीब लोग नोट बन्दी की समस्या से काफी परेशान हैं। मेरे पास 100-100 के नोट आये थे जिसे मैंने अपने सेन्ट्रल बैंक के चालू खाते में जमा किया है। शायद मेरे इस छोटे से प्रयास से किसी की शादी-विवाह में आ रही समस्याओं का निदान हो सके। इस मौके पर कैशियर नवीन जायसवाल, आशीष चौहान, सभासद सन्दीप सोनी आदि मौजूद रहे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *