महराजगंज

जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का शिकार हुआ ठूठीबारी और सिसवा कस्बा: बसपा प्रत्याशी राघवेन्द्र

bsp-candidate-in-siswaमहराजगंज: शनिवार को सिसवा विधानसभा के बसपा प्रत्याशी राघवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ़ अंकित सिंह ने जनपद के सिसवा कस्बा स्थित शीतगृह परिसर में कार्यकर्ता बैठक को सम्बोधित करते हुये कहा कि ठूठीबारी और सिसवा कस्बा जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का शिकार हुआ है। यही वजह है कि मांग के बावजूद भी न तो ठूठीबारी को नगर पंचायत का दर्ज़ा मिला और न ही सिसवा को नगर पालिका का दर्ज़ा मिल पाया।
उन्होंने कहा कि प्रमुख सचिव उत्तर प्रदेश शासन ने पत्रांक संख्या 303/4/नौ-6-2004 दिनांक 15 सितंबर 2004 के माध्यम से जिलाधिकारी महराजगंज को नगर पंचायत सिसवा बाजार को नगर पालिका बनाये जाने के सम्बन्ध में नियमानुसार वांछित प्रस्ताव उपलब्ध करने का निर्देश दिया था। किन्तु स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा शासन सत्ता में अपने प्रभाव के माध्यम से निजी स्वार्थ हेतु उक्त प्रस्ताव को ठण्डे बस्ते में डालते हुए निकाय के विकास को बाधित कर दिया गया।
उन्होंने कहा की जनपद की सबसे पहली सन 1871 में नगर पंचायत का दर्जा प्राप्त करने वाला और पूरे मण्डल में प्रमुख व्यावसायिक केंद्र के रूप में अपनी पहचान रखने वाला सिसवा कस्बा आज अपनी पहचान खो चुका है। इतना ही नहीं सिसवा विधानसभा के भारत नेपाल बार्डर पर व्यवसायिक दृष्टिकोण से जनपद के लिए अति महत्वपूर्ण केन्द्र ठूठीबारी को नगर पंचायत का दर्जा देना अतिआवश्यक है। पर दुर्भाग्य रहा कि ठूठीबारी भी जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का शिकार हो गया।
कार्यकर्ता बैठक को रोशन मद्धेशिया, नन्दलाल गौतम,अमरेंद्र कुमार मल्ल, राजकुमार सिंह, जीतेन्द्र पूरी, श्रीचंद निराला, नुरुल हक़, अतुल गोंड, अर्जुन प्रसाद आदि ने भी सम्बोधित किया।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *