…और कुशीनगर मे एक बडा बवाल होने से पहले बचा ली कोतवाली पुलिस

कुशीनगर: जिले के पडरौना नगर के गुदरी बाजार मे सोमवार कोे बुडिया माई मदिंर के निकट केसरिया झंन्डे को किसी आराजक तत्वों द्वारा उतार दिए जाने के बाद फैली अफवाह से एक बार फिर बवाल होते होते बच गया। इस तरह की अफवाह की सुचना मिलते ही मौके पर पहुची कोतवाली पुलिस ने मामले को शांत करा दिया।

घटना के बाबत मिली जानकारी के अनुसार शहर के बुडिया माई मदिंर के निकट अभी हाल ही मे बीते चैत नवरात्र व हनुमान जयंती को लेकर हिन्दुओ दृारा इस मुहल्ले मे केसरिया झंन्डा लगाया गया था।

इधर बिगत इसी मुहल्ले मे कई वर्षो से कुरैसी बिरादारी के लोगो दृारा मदिंर के पीछे रोड के किनारे बकरा काट कर मीट बेचने का काम करते चले आ रहे थे।
जबकी बीते चैत नवरात्र पर्व पड जाने पर यहा करीब दस दिनों तक ये दुकानदार मीट नही बेचा और न ही काटा। अभी नवरात्र बीता ही था की मुख्यमंन्त्री योगी आदित्य नाथ के दृारा अबैध रुप से बुचडखाने को बंद करने का निर्देश आ गया। इस सिलसिले मे अभी ये मीट कारोबारी अपना दुकान बंद कर के लाईसेंस के चक्कर मे पडे हुए थे।

ऐसे में हनुमान जंयती को लेकर लगाए गये केसरिया झंन्डे को किसी आराजक तत्वा द्वारा उतार दिया गया। इसी बात को लेकर फैली अफवाह के चलते गुदरी बाजार के बुडिया माई मदिंर के पीछे लोगो की भीड जुट गई। इस दौरान केसरिया झंन्डा उतारे जाने को लेकर तरह तरह की अटकले लगाया जा रहा था। तब तक किसी ने कोतवाली पुलिस को सुचना दे दी की यहा पर एक समुदाय द्वारा केसरिया झंन्डे को उतार दिया है।

सुचना मिलते ही पहुची पुलिस ने मौके पर जुटी भीड को तितर ,बितर करके माहौल को शांत करा दिया जिससे एक बहुत बडा बवाल होने से बच गया।