शादी कर बीबी संग बुलेट से निकला तो लग गयी फोटो लेने की होड़


गोरखपुर:
शहर के लालडिग्‍गी रोड निवासी स्‍व रमेश चन्‍द्र गुप्‍ता, श्रीमती आशा गुप्‍ता के पुत्र गौरव गुप्‍ता की शादी तीन-चार माह पहले देवरिया के आनंद कुमार कश्‍यप और श्रीमती सविता गुप्‍ता की बेटी अंकिता के साथ तय हुई थी। उसी समय गौरव के मामा ने शादी में अनोखी विदाई का प्‍लान बनाया। 17 नवंबर को शहर के एक मैरेज हाल में शादी का सारा कार्यक्रम सम्‍पन्‍न हुआ। जब सुबह विदाई का समय आया तो दुल्‍हा सजीधजी बुलेट रानी पर साज श्रृंगार के साथ सजी-धजी दुल्‍हन को लेकर शहर का भ्रमण कराने के लिए निकल पड़ा।

बुलेट पर दुल्‍हा और दुल्‍हन को देखने वालों में सेल्‍फी लेने की होड़ लग गई। गौरव की रेती रोड पर साइकिल की दुकान है। वह बुलेट पर दुल्‍हन अर्चना के साथ जब निकले तो न ही उनके चेहरे पर कोई शिकन दिखाई दी और न ही दुल्‍हन अर्चना के चेहरे पर । वह भी हंसीखुशी बुलेट पर बैठ कर दूल्‍हे गौरव के साथ निकल पड़ी।

बैंक रोड से गौरव बुलेट से टाउनहाल, विश्‍वविद्यालय चौराहा, रामगढ़ताल, अंबेडकरचौक, शास्‍त्री चौक, घोषकंपनी, रेती रोड होते हुए अपने घर लालडिग्‍गी पहुंचे। उनका कहना है कि पहले से ही उन्‍होंने यह प्‍लान बनाया था। वहीं दुल्‍हन अंकिता के लिए भी यह पल अनोखा इसलिए था क्‍योंकि उसने सपने में भी नहीं सोचा था कि उनके पति गौरव इस पल को इस तरह यादगार बनाना चाहते हैं।

इस दौरान दुल्‍हा-दुल्‍हन केे साथ चल रही उनकी बहन श्रद्धा और शालिनी ने खुशी जताते हुए बताया कि उनका इकलौता भाई है और उन्‍हें इस बात की खुशी हो रही है उनके भाई ने अनोखे तरीके से विदाई का प्‍लान बनाया। उनका कहना है कि बुुलेट पर विदाई देखकर लोगों को भी हैरत हो रही है और वह सेल्‍फी लेने के लिए आतुर दिख रहे हैं। ऐसे में उन्‍हें इस बात का अहसास हो रहा है कि वाकई में कुछ अलग करने से लोग खुद ही आपके साथ हो लेते हैं।

वहीं परछावन की रस्‍म कर रहींं दूल्‍हे गौरव की मां आशा देवी का कहना है कि बहुत अच्‍छा लग रहा है। जब पूूरा देश नोटबंदी से परेशान है, तो लोगों को खुशी देनेे का इससे अच्‍छा तरीका अौर क्‍या हो सकता है।