महिला ने टीका लगवाने के बहाने युवक का करवा दिया नसबन्दी, तीन दिन से भटक रहा न्याय की आस लेकर

गोरखपुर: बड़हलगंज थाना क्षेत्र के महुआपार गांव में शैलेंद्र दुबे के घर में पिछले 15 वर्षों से काम कर रहे रामू यादव पुत्र बेचन का गोरखपुर शहर में घूमने जाने के दौरान एक अज्ञात महिला द्वारा टीका लगवाने के बदले पैसे देने का झांसा देकर रायगंज स्थित एक नर्सिंग होम में नसबंदी करा देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पीड़ित युवक अपने मालिक के साथ पिछले 3 दिनों से डीएम और राजघाट पुलिस का चक्कर काट रहा है। आज जब मामला मीडिया में आया तो एसएसपी रामलाल वर्मा ने कहा कि इस प्रकार का एक प्रार्थना पत्र मिला है इसकी जाँच कराई जा रही है अगर आरोप सही मिलता है तो विधिक कार्यवाही की जाएगी।

जानकारी के अनुसार बड़हलगंज थाना क्षेत्र के महुआपार गांव में शैलेंद्र दुबे के घर में पिछले 15 वर्षों से काम कर रहे रामू यादव पुत्र बेचन का गोरखपुर शहर में घूमने आया था। शहर जाने के दौरान उसकी मुलाकात एक अज्ञात महिला से हुई, जिसके द्वारा टीका लगवाने के बदले पैसे देने का झांसा देकर रायगंज स्थित एक नर्सिंग होम में नसबंदी करा दी।

पीड़ित के मालिक शैलेंद्र ने बताया कि रामू यादव 29 मार्च को मेरे बाबा से पैसे लेकर घूमने के लिए शहर आया था। 31 मार्च को इसका फोन आया तो हम लोग शहर आए तो इसकी स्थिति खराब थी। पूछने पर उसने बताया कि एक महिला इस से मिली और इंजेक्शन लगवाने के बदले पैसे देने की बात कह कर अस्पताल ले गई थी। इंजेक्शन लगने के बाद मैं बेहोश हो गया।

शैलेन्द्र ने बताया कि रामू के हाथ में एक कार्ड था ,जो नसबंदी का था। जिस पर रायगंज प्रकाश सर्जिकल क्लीनिक लिखा था। मामले की शिकायत हम लोगों ने मुख्यमंत्री और डीएम के व्हाट्सप पर की लेकिन कोई जवाब न मिलने पर हमने डीएम को को फोन किया और पूरी बात बताई। डीएम के कहने पर हम लोग रामू को लेकर सीएमओ के पास गए। उनके आनाकानी करने पर हम राजघाट पहुंचे। वहां से हमें कोतवाली का मामला बताकर कोतवाली भेजा गया । इधर आज एसएसपी ने मामला संज्ञान में आने पर जांच के आदेश दे दिए हैं।

Martia Jewels
Martia Jewels
Martia Jewels