कल लाया जायेगा लोटन ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

TIME
TIME
TIME

सिद्धार्थनगर: लोटन ब्लॉक प्रमुख सजलैंन निशाँ के खिलाफ दिए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा बुद्धवार को होगी। कल का परिणाम न केवल प्रमुख पति ज़मीर अहमद बड़कू की परीक्षा होगी बल्कि सदर विधायक श्यामधनी राही की भी प्रतिष्ठा भी परखी जाएगी। गौरतलब है कि भाजपा विधायक राही ने मौजूदा प्रमुख को हटाने के लिए पूरी ताकत लगा रखा है।

लोटन इस ब्लॉक में बीडीसी सदस्यों की तादाद 51 है। अविश्वास प्रस्ताव में चर्चा के बाद मतदान में विपक्ष के समर्थन में 26 सदस्य ज़रूरी है। विपक्ष से दयाराम यादव की मां विद्यादेवी प्रमुख पद की दावेदार हैं । उनको बीजेपी का समर्थन प्राप्त है।

इस चुनाव में बीजेपी खेमे की सबसे बड़ी दिक्कत अधिकतर बीडीसी मेम्बरों का क्षेत्र से गायब होना है। हालांकि यह जरुरी नहीं है कि सभी सदस्य बुधवार को भी गायब रहें। जानकारी के अनुसार क्षेत्र के लगभग 30 बीडीसी गायब हैं। जाहिर है भाजपा इस बात को हल्के में नहीं ले रही है। सदर विधायक खुद जहाँ मैदान में उतर गए हैं वहीँ सांसद जगदंबिका पाल के कुछ खास लोग भी क्षेत्र में भ्रमण में लगे हैं।

क्षेत्र से गायब बीडीसी सदस्यों को श्रीमती सजलैंन का समर्थक माना जाता है। इस मुद्दे पर विपक्ष का आरोप है कि प्रमुख के पति ज़मीर अहमद ने उन्हें लालच द्दे कर अपने साथ कर रखा है। इसके जवाब में प्रमुख के देवर डॉ. फरीद अहमद सल्फी कहते हैं कि सदस्य सत्ताधारी दल के दबाव से कहीं जा सकते हैं। जिनसे हम लोगों का कोई संबंध नहीं है। मेरी जीत यक़ीनी है, इसलिए विरोधी प्रलाप कर रहे हैं।

फिलहाल लोटन ब्लाक के सियासी जानकार बताते है की लोटन में ब्राह्मण बीडीसी सदस्यों का बड़ा वर्ग स्थानीय कारणों से ज़मीर अहमद के खेमे में दिख रहा है। यही वर्तमान प्रमुख की ताकत है तो बीजेपी खेमे की बेचैनी की वजह भी है। अब मौजूदा हालात में देखना है कि 6 सितंबर को ऊँट किस करवट बैठेगा।