मर चुकी है बस्ती के माननीय और अफसरानों की इंसानियत, सड़क पर पड़े वृद्ध पर नहीं जाता ध्यान

TIME
TIME
TIME

बस्ती: बस्ती जिले के माननीय और अफसरानों के अंदर की इंसानियत मर चुकी है ।जो रोज आते -जाते सड़क पर पड़े एक वृद्ध को देखते तो हैं,लेकिन उसके उद्धार के लिए शायद इनके पास संवेदनाओ की कमी पड़ गयी है।

जानकारी के अनुसार बस्ती जिले के पुराना डाकखाना चौराहे के एक होटल के पास एक लावारिस और लाचार वृद्ध सड़क के किनारे पड़ा हुआ है। इस सड़क से आज प्रभारी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह भी गुज़रे । लेकिन उनकी नज़र इस वृद्ध पर नहीं गयी मंत्री जी इसी रास्ते से अपने काफिले के साथ चुपचाप इस वृद्ध को अनदेखा कर चले गए।

इतना ही नहीं इस सड़क से रोजाना जिले के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक सहित तमाम उच्चाधिकारियों को जाना पड़ता है । लेकिन वह भी इस वृद्ध को देखकर भी अनदेखा कर चले जाते है।

कई बार इसकी सूचना नगरपालिका को दी गयी और पुलिस को दी गयी। लेकिन सम्बन्धित लोग एक दूसरे के तरह इशारा कर अपने आप से बच लेते है । सड़क के किनारे यह वृद्ध घायल और लाचार अवस्था में महीनों से पड़ा है।

सड़क के पास चाय की दुकान वाले के मेहरबानी से वृद्ध दो टाइम का भोजन पा कर अपना गुज़ारा कर रहा है।लेकिन सड़क के किनारे नग्न अवस्था में पड़े इस वृद्ध के साथ काफी भी कोई हादसा हो सकता है। अधिकारियों और तमाम समाजसेवी संस्थाओ का इस वृद्ध की तरह ध्यान तक नहीं जा रहा है।