जाम का झाम खत्म करने शहर में दो मार्ग हुए वनवे, सफल होने पर अन्य रास्तों पर भी होगा अमल

TIME
TIME
TIME

गोरखपुर: जिला मुख्यालय की सड़कों पर लग रहे जाम को काबू में करने और आए दिन जाम से जूझ रहे शहर को निजात दिलाने के लिए ट्रैफिक व्यवस्था में कुछ परिवर्तन किया गया है।

अब कैंट चौराहे से बेतियाहाता चौराहे की ओर चार पहिया वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। शास्त्री चौक से जिला अस्पताल की तरफ किसी वाहन को नहीं जाने दिया गया। बेतियाहाता की तरफ जाने वाले चार पहिया वाहनों को इलाहाबाद बैंक के सामने से घूम कर जाना पड़ा।

शास्त्री चौक चौराहे के पास के कट को बंद कर दिया गया है। शास्त्री चौक से सीधे वाहन जिला अस्पताल की ओर नहीं जा सके। इन वाहनों को टाउन हाल होते हुए या फिर बेतियाहाता चौराहे से मुड़कर जाने की अनुमति दी गई।

एसपी ट्रैफिक आदित्य वर्मा ने बताया कि शहर में वाहनों की संख्या ज्यादा है और सड़के सकरी हैं। सड़कों पर ही गाड़ियां पार्क की जा रही हैं इससे भी जाम की समस्या हो रही है। जाम से निजात के लिए दो सड़कों पर वाहन को डायवर्ट करने का फैसला लिया गया है। योजना सफल होने पर और भी सड़कों पर इस तरह का प्रयोग किया जाएगा।

इस सम्बन्ध में बुद्धवार को पुलिस ने एक यातायात जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन भी किया। जिसके तहत शास्त्री चौक से चेतना तिराहे तक जागरूकता रैली निकाली गयी। जिसको एसपी ट्रैफिक आनंद प्रकाश वर्मा ने रवाना किया। रैली में शामिल एक एनजीओ के सदस्य अपने हाथों में पम्पलेट लेकर राहगीरों तथा दुकानदारों को देते हुए यातायात नियमो के प्रति जागरूक कर रहे थे।

जागरूकता रैली शास्त्री चौक से निकल कर कचहरी चौक,गणेश चौक होते हुए चेतना तिराहे पर पंहुची। इस अवसर पर एसपी ट्रैफिक ने कहा कि लगातार हो रही सड़क दुर्घटनाये चिंता का विषय है । इसी के साथ यातायात नियमो के प्रति लोगो की जागरूक ना होना भी दुर्घटनाओं का मुख्य कारण है।

आंकड़े बताते है कि पूरे देश में प्रति दिन 14 मौते सड़क दुर्घटना में होती है।इस लिए हमें यातायात नियमो का पूर्णयता पालन करना चाहिए। सड़क पर चलते समय हेलमेट का प्रयोग करे, गाड़ी चलाते समय मोबाइल से बात ना करे, चलते समय सेल्फी ना ले, यातायात सिग्नल का पालन करे तथा अपने जीवन को सुरक्षित रखें।

इसके साथ ही सीओ ट्रैफिक प्रवीण कुमार सिंह ने अपने हमराहियों संग बेतियाहाता के पास वाहन चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान उन्होंने कई गाड़ियों को क्रेन की मदद से उठवाया।