डीडीयू से उठी जेएनयू छात्र नजीब की गुमशुदगी पर आवाज, प्रदर्शन निकाल सभा की

गोरखपुर: नजीब को ढुढ़ो…..नजीब कहां है? हाथों में तख्तियां, बैनर। जुबां से नजीब को ढुंढों के नारे। गृह मंत्री, दिल्ली पुलिस व सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के भीे नारे। छात्रों की एक मांग नजीब को तलाश करो।

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्विद्यालय से छात्र-छात्राओं का एक हुजूम उमड़ पड़ा। छात्रों की आवाज इस बात का एहसास करा रही थीं कि नजीब की मां अकेले नहीं हैं। बल्कि पूरे भारत के छात्र नजीब की मां की आवाज बन चुके हैं। जेएनयू छात्र नजीब की गुमशुदगी की आवाज अब देश के हर कोने से उठने लगी हैं। गोरखपुर भी इस कड़ी में जुड़ गया हैं।

लापता छात्र नजीब को तलाश करने के लिए गोविवि के छात्रों ने विवि के मुख्य गेट पर प्रदर्शन किया। इसके बाद विभिन्न रास्तों से मार्च करते हुए डीएम कार्यालय कूच किया। वहां बाकायदा राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।

इससे पहले छात्रो ने डीएम कार्यालय पर सभा किया। प्रर्दशन के संयोजक भाष्कर चौधरी व सत्येन्द्र भारती ने कहा कि छात्र गायब हो रहे हैं और दिल्ली पुलिस सो रही हैं। गृहमंत्री भाषण में व्यस्त हैं और नजीब की मां सड़को पर इंसाफ के लिए भटक रही हैं।कहीं नजीब को दूसरा रोहित वेमुला तो नहीं बना दिया गया। यह घटना सरकार व एबीवीपी की मिली भगत का परिणाम लगती हैं।जेएनयू छात्र नजीब का एबीवीपी से वैचारिक मतभेद था।जिसको लेकर 14 अक्टूबर को एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने उसे मारा और तभी से वह गायब हैं।

नजीब की तलाश के लिए नजीब की मां ने देश के हर नेता का दरवाजा खटखटाया।धरना प्रदर्शन हुआ लेकिन न तो दिल्ली पुलिस और न ही केंद्र सरकार ने कोई सकारात्मक कदम उठाया।इससे पूरे देश के छात्रों में आक्रोश व्याप्त हैं।

गेविवि छात्रसंघ अध्यक्ष अमन यादव ने कहा कि जेएनयू से छात्र का लापता होना।उस पर पुलिस व सरकार की लापरवाही व उदासीनता से देशभर के छात्रों में भय व आक्रोश व्याप्त हो रहा हैं। जो एक बड़े आंदोलन की पृष्टभूमि बन सकता हैं।दिशा छात्र संगठन के अंगद ने कहा कि जेएनयू में भगवाकरण न कर पाने की हताशा में यह किया गया हैं। जिसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। जल्ज से जल्द नजीब हमें चाहिए।

इससे पहले मार्च गोविवि के मुख्य द्वार से हरिओम नगर, एमपी इंटर कालेज, सेंट एंड्रयूज कालेज होता हुआ डीएम कार्यालय पर पहुंचा। प्रर्दशन को छात्रसंघ अध्यक्ष अमन यादव, दिशा छात्र संगठन, नौजवान भारत सभा ने समर्थन किया।

इस दौरान प्रतिमा, राजीव यादव, पवन कुमार, अनूप मद्देशिया, नितेश गौड़, शिवशंकर, मनोज, हेमंत यादव, दारा यादव, संजय, संदीप सिंह, अजीत कुमार, विनय यादव, विद्या, अंजना, गुलाब, राहुल, योगेश, अमन, अभिषेक, प्रदीप, धनंजय, विवेक चौधरी, पंकज, अरुण यादव, कमलेश, अरविंद यादव, सौरभ, अनिल सहित तमाम छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।