सिद्धार्थनगर: कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में फाँसी की सजा सुनाने के विरोध में हुआ प्रदर्शन

सिद्धार्थनगर: पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को पकिस्तान द्वारा फाँसी की सजा सुनाए जाने से नाराज ज़िले के छात्रों ने सोमवार को शहर के मुख्य चौराहे पर जुलुश निकाल प्रदर्शन करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का पुतला जलाया। युवाओं ने कहा कि पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है।ऐसे में भारत को पाकिस्तान को करारा जवाब उसी की भाषा में देने की ज़रूरत है और यह समय की मांग भी है।

पाकिस्तान के खिलाफ अपना गुस्सा जताते हुए छात्रों ने कहा कि भारत ने कुलभूषण को भारतीय नौसेना का पूर्वसैनिक बताया है। ऐसे में भारत की ज़िम्मेदारी और भी बढ़ जाती है।जाधव के जासूस होने की पुष्टि नही हुई है बिना सुबूत के पाकिस्तान उन्हें फाँसी कैसे दे सकता है। पाकिस्तान की इस मनमानी पर रोक लगाना चाहिए।छात्रों ने कहा कि पूर्व नौसैनिक पूरी तरह निर्दोष है उनके फाँसी की सजा का ऐलान क्यों किया गया।

छात्र नेता प्रदीपराज मौर्या ने कहा कि वालीवुड के वो लोग कहा गये जो पाकिस्तानी कलाकारों का समर्थन और याकूब मेनन की फाँसी का विरोध कर रहे थे आज जब अपने देश के बेटे की बात है तो वो लोग मौन क्यों हैं।

छात्रों ने पीएम नरेन्द्रमोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से जाधव को जल्द से जल्द पाकिस्तानी जेल से भारत ले आने की मांग की इस दौरान छात्र नेता प्रदीप राज मौर्य, छात्र संघ अध्यक्ष शशांक शेखर त्रिपाठी, छात्र नेता अष्टभुजा सिंह श्रीनेत, छात्र नेता पुलकित अग्रहरि, रोहित मिश्रा, राजा मिश्रा, अमन जैसवाल, सुजीत मौर्या, पवन चौबे, राहुल सिंह, मनोज अग्रहरी आदि छात्र मौजूद रहे।