संतकबीर नगर

सन्तकबीरनगर: जेल निर्माण में करोड़ो का खेल, अधिकारी और ठेकेदार मिलकर कर रहे बंदरबाट

शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी
सन्तकबीरनगर: प्रदेश की योगी सरकार भले ही भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लाख दावे कर रही है लेकिन घोटालेबाज घोटाला करने का कोई ना कोई नया तरीका ढूंढ ही लेते हैं। मामला संतकबीरनगर जिले का है। जहां साढ़े पांच सौ कैदियों के लिए बन रही जेल में घोटाले का खेल खेला जा रहा है। जब सदर विधायक ने निर्माणाधीन जेल का निरीक्षण किया तो जेल निर्माण में बड़ा भ्रष्टाचार उजागर हुआ।

आपको बतादे कि संतकबीरनगर ज़िले के अनई गांव में 123 करोड़ की लागत से कार्यदाई संस्था UP राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड जेल का निर्माण कर रही जिसमे करोड़ों का खेल खेला गया है। इस जेल निर्माण के लिए 2012 में 85 करोड़ रुपये का बजट सेंक्शन हुआ था। लेकिन बजट के अभाव में काम शुरू हुआ 2015 में।

दिसम्बर 2017 में ही कार्य पूरा करके हैंडओवर करना था। लेकिन यह बजट 85 करोड़ से बढ़कर 123 करोड़ पहुंच गया। जिसे दिसंबर 2017 में ही हैंडओवर करना था लेकिन 2019 लग गया और जेल निर्माण अभी भी पूरा नही हुआ । वहीं जब जेल निर्माण में अनियमितता की खबर सदर विधायक जय चौबे को लगी तो उन्होंने सीडीओ हाकिम सिंह के साथ निर्माणाधीन जेल का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान कार्यदाई संस्था UP राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड का भ्रष्टाचार उजागर हो गया। सबसे पहले मिट्टी पटान में गड़बड़ी दिखी। जहां 100 % में महज़ 40 परसेंट ही मिट्टी पटान कर घोटाला किया। साथ ही ईंट और सरिया भी घठिया क्वालिटी की मिली। ऐसे में विधायक ठेकेदार पर भड़क गए। विधायक ने CDO से टीम गठित कर जांच करने की बात भी कही। CDO हाकिम सिंह ने भी माना कि जेल निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है। उन्होंने कहा कि इसके लिए टीम बनाकर जल्द ही जांच पूरी की जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर कहीं से भी कोई गड़बड़ी पाई गई तो ठेकेदार के साथ ही कार्यदाई संस्था पर भी सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *