योगी के मुख्यमंत्री बनते ही पुलिस ने किया गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

गोरखपुर: प्रदेश में मुख्यमंत्री पद का शपथ लेते ही महंत योगी आदित्यनाथ के नाम की घोषणा होते ही गोरखपुर पुलिस उनकी तथा गोरखनाथ मंदिर की चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था का ताना-बाना बुनने में जुट गई है। उनके निवास स्थल गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में दो कंपनी अतिरिक्त पीएसी तैनात कर दी गई है। जबकि मुख्यमंत्री के रूप में योगी के गोरखपुर आने पर एसएसपी ने उनकी सुरक्षा में तैनात करने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल की मांग की है।

बताते चलें कि सांसद के साथ ही गोरक्ष पीठाधीश्वर होने की वजह से योगी आदित्यनाथ को वाई श्रेणी की सुरक्षा पहले से है। इसके साथ ही गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा का भी पहले से ही पुख्ता इंतजाम हैं, लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद उनकी निजी सुरक्षा व्यवस्था में तो बदलाव होना ही है, साथ ही गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है।

एसएसपी रामलाल वर्मा के अनुसार पहले से चली आ रही मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही तात्कालिक तौर पर दो कंपनी पीएसी अलग से तैनात कर दी गई है। जल्दी ही मंदिर की सुरक्षा और चाक-चौबंद कर दी जाएगी। इसके लिए अतिरिक्त फोर्स की मांग की गई है।

एसएसपी ने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यभार ग्रहण करने के बाद उनके पहली बार गोरखपुर आने पर होने वाली भीड़भाड़ को देखते हुए अभी से उनकी सुरक्षा का खाका तैयार कर लिया गया है। उनके गोरखपुर आने का कार्यक्रम पता चलते ही सुरक्षा के लिए बनाई गई योजना को अमली-जामा पहना दिया जाएगा। इसके लिए दूसरे जिलों से भी पुलिस बल की मांग की गई है।