राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सपा में गुटबाजी तेज, कोविन्द के पक्ष में उतरा शिवपाल खेमा

लखनऊ: समाजवादी पार्टी में चुनाव पूर्व से मची रार अब खुलेआम दिखने लगी है। राष्ट्रपति चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) में दो फांट देखा जा रहा है ।

एक तरफ पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जहां विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार का समर्थन किया है तो वहीं उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव खेमे ने एनडीए प्रत्याशी रामनाथ कोविंद के पक्ष में मतदान करने की अपील की है।

इतना ही नहीं इस खेमे ने समाजवादियों से ही नहीं बल्कि बसपा विधायकों व सांसदों से भी श्री कोविंद के पक्ष में मतदान का आग्रह किया है।

शिवपाल का ताजा बयान साफ़ इशारा कर रहा है कि सपा में अंदरूनी उठापटक अभी ख़त्म नहीं हुयी है । हालांकि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव पहले ही रामनाथ कोविंद का समर्थन कर चुके हैं।

शिवपाल सिंह यादव के करीबी व समाजवादी चिन्तन सभा के अध्यक्ष दीपक मिश्र ने लिखित बयान जारी कर कहा है कि वरिष्ठ समाजवादी नेता व विधायक शिवपाल सिंह यादव अपने समर्थक विधायकों से मिलकर कोविंद को जिताने के लिए सहयोग मांगेंगे।

चिंतन सभा कोविंद के पक्ष में अभियान चलाएगी। समाजवादी सोच के कई विधायक दलीय प्रतिबद्धता को तोड़कर श्री कोविंद को वोट करेंगे। उन्होंने कहा कि सपा और बसपा को प्रदेश के नागरिकों की आकांक्षा का ध्यान में रखते हुए श्री कोविंद का सहयोग करना चाहिए ।

क्योंकि आजादी के बाद पहला मौका है कि यूपी की एक विभूति राष्ट्रपति बन रही है। श्री कोविंद के राष्ट्रपति बनने से प्रदेश का मान व गुरुत्व पूरे देश में गुणात्मक रूप से बढ़ेगा ।

लिहाजा यूपी के सभी सांसदों व विधायकों को श्री कोविंद का मुखर समर्थन करना चाहिए। श्री रामनाथ कोविंद भले ही संघ की विचारधारा से ताल्लुक रखते हैं पर अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं।

श्री मिश्र ने श्री कोविंद को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना की है । साथ ही कहा है कि अच्छे कार्यों के लिए प्रधानमंत्री का समर्थन है।