सिद्धार्थ नगर

VIDEO सिद्धार्थनगर: जिले में भारत बंद का मिलाजुला असर

कृपा शंकर भट्ट
सिद्धार्थनगर: जनपद में भारत बंद का मिलाजुला असर दिख रहा है। कांग्रेस नेता सडकों पर उतर कर दुकानें बंद करवा रहे हैं। डुमरियागंज के पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता मोहम्मद मुकीम रिक्शे पर बैठ कर काग्रेसी कार्यकर्ताओ के साथ कस्बे में निकले।

कस्बे में खुली दूकानों को कोंग्रेस के कार्यकर्ताओं ने बन्द करवा दिया। वहीँ बंद को देखते हुए प्रशासन ने समूचे जनपद में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किये हैं। सड़कों पर तिरंगा झंडा लिए हुए कांग्रेसी योगी मोदी मुर्दाबाद के नारे लगा रहे हैं।

बता दें कि कांग्रेस ने आज पेट्रोल-डीजल में दामों में बढ़ोतरी के खिलाफ भारत बंद कर रखा है। कांग्रेस के इस आह्वान पर 21 विपक्षी दलों का साथ मिला है। वहीँ, कई ऐसे भी दल हैं जो विपक्ष में तो हैं लेकिन कांग्रेस के इस बंद में साथ खड़े नजर नहीं आ रहे हैं।

कांग्रेस द्वारा बुलाए गए आज भारत बंद में एनसीपी, डीएमके, सपा, जेडीएस, बसपा, टीएमसी, आरजेडी, सीपीआई, सीपीएम, एआईडीयूएफ, नेशनल कांफ्रेंस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, झारखंड विकास मोर्चा, टीडीपी, केरल कांग्रेस, आरएसपी, आईयूएमएल, शरद यादव की पार्टी लोकतांत्रिक जनता दल, राजू शेट्टी की स्वाभिमानी शेतकरी पार्टी और हिंदुस्तान अवाम पार्टी (हम) का समर्थन हासिल है। वहीँ बीजू जनता दल, टीआरएस, और एआईएडीएमके जिन्होंने आज के भारत बंद को अपना समर्थन नहीं दिया है।

वहीं, ऐसे भी राजनीतिक दल हैं जो कांग्रेस ने जिन मुद्दों पर भारत बंद का आह्वान किया है, उन पर साथ हैं। लेकिन कांग्रेस के बंद के आह्वान के खिलाफ हैं। इनमें पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी टीएमसी ने कह रखा है कि जिन मुद्दों पर बंद बुलाया जा रहा है, वह उस पर साथ है। लेकिन पार्टी सुप्रीमो और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की घोषित नीति के मुताबिक वह राज्य में किसी तरह की हड़ताल के खिलाफ है।

टीएमसी की नीति पर ही आम आदमी पार्टी भी है। आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, ‘यद्यपि मुद्दा सही है, लेकिन कांग्रेस को ईंधन मूल्य वृद्धि और भारतीय रुपये में गिरावट के मुद्दे पर कोई नैतिक अधिकार नहीं है। इस बात को हजम कर पाना कठिन है कि कांग्रेस भारत बंद का आह्वान कर रही है।’

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *