सिद्धार्थ नगर

नगर पंचायत उस्का बाजार में नही है एक भी शौचालय, प्रत्याशी रामेश्वर बोले करूँगा क्षेत्र का विकास

सिद्धार्थनगर: नगर पंचायत उस्का बाजार में न तो सार्वजनिक शौचालय की व्यवस्था है और ना ही पर्याप्त यूरिनल की। शहर में आने वाले यात्रियों और दुकानदारों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। गौरतलब हो कि जिस शहर को वर्ष 2012 में नगर पंचायत बनने का गौरव मिला उस नगर पंचायत की हालत आज भी वहीं है जो 2012 में थी।
बदला है तो सिर्फ लोगों की भीड़ और समस्याओं का अंबार आज तक ना किसी ने सुध ली नाही लेने की दिलचस्पी दिखाई समय के हाथों नियति के भरोसे छोड़ दिया जहां तक पहुंचना है पहुंचो जहां रुकना है रुक जाओ।
बिना सारथी के जंग लगे रथ की तरह अपने खेवन हार की बाट जोह रहे उस्का बाजार को आज भी किसी का इंतजार है. 50 हजार की आबादी वाले इस नगर में कहीं शौच की व्यवस्था नहीं है। लगभग डेढ़ करोड़ रूपये शमशान घाट के निमित्त धन खर्च हुआ है जो कि सिर्फ कागजो की शोभा बढा रहा है धरातल पर दस लाख भी खर्च हुआ नही दिख रहा है।
बताते चले कि मौजूदा नगर पंचायत अध्यक्ष के ऊपर भ्रष्टाचार के कई मुकदमें हैं । अभी हाल ही में उनके आवास पर आयकर विभाग का छापा पड़ा था जिसमे 10 करोड़ से भी ज्यादा की अघोषित सम्पत्ति मिली।
फाइनल रिपोर्ट ने जब मौजूदा चेयरमैन और तमाम प्रत्याशियों से बात करना चाहा तो सब बगले झाकंने लगे।
प्रत्याशी रामेश्वर पाण्डेय ने फाइनल रिपोर्ट से बात करते हुए कहा कि उस्का बाजार का विकास करना मेरी आत्मा के आवाज की मांग है। यहां की हर छोटी बड़ी समस्या को मैने व्यक्तिगत रूप से देखा और झेला है यहां की समस्याओ से व्यथित होकर मैं राजनीति में आया हूं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *