नौगढ़ में जेई के तानाशाही रवैये से व्यापारियों में रोष, कनेक्शन के नाम पर अवैध वसूली

नौगढ़: तहसील के स्थानीय बाजार में अवैध कटियामारों के खिलाफ चलाया गया अभियान यहाँ के जेई के हिटलरशाही रवैये के चलते पूरी तरह फ्लॉप होती दिख रही है। बताया जाता है कि जेई छोटे व्यापारियों का उत्पीड़न करने पर आमादा थे।

व्यापारियों का कहना था कि पहले बड़े लोगों पर कार्यवाही होनी चाहिए मगर जेई हिटलरशाही रवैया अपनाते हुए छोटे लोगो पर ही FIR दर्ज कराने की धमकी दे रहें हैं। यही नहीं वो आज इसी मुद्दे पर व्यापारियों से उलझ गए और तू-तु मैं-मैं की स्थिति पैदा हो गयी। व्यापारियों के उग्र रवैये के कारण जेई को अपना अभियान बीच मे ही छोड़ना पड़ा।

व्यापारियों का आरोप है की जेई छोटे व्यापारियों पर कानूनी कार्यवाही कर बड़े लोगो से पैसा/सुविधा शुल्क लेकर छोड़ देते है। उनका कहना था की जब-जब इस तरह का अभियान नौगढ़ पावर हाउस द्वारा चलाया जाता है अधिकारी सुविधा शुल्क न देने वालों को अपना टारगेट बनाकर कार्यवाही कर अभियान समाप्त कर देते हैं।

यही नहीं जानकरी के अनुसार जो कनेक्शन ग्राहकों को मुफ्त मिलने चाहिए वहां से भी उनसे कनेक्शन के नाम पर 1000 रुपये तक वसूले जा रहे हैं। गौरतलब है की सूबे की योगी आदित्यनाथ सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब परिवारों को फ्री में बिजली कनेक्शन देने का आदेश दिया था।

इसके अंतर्गत सभी 25580 वार्षिक से कम आय वाले लोगों को निशुल्क में बिजली कनेक्शन दिया जा रहा है और दिया भी गया । पूरे पूर्वांचल में 167 जगह कैंप लगाए गए थे।

मगर नौगढ़ तहसील में इस तरह का न तो कैम्प लाएगा जा रहा है ना ही निशुल्क कनेक्शन ही दिया जा रहा है। बल्कि कटियामारों के खिलाफ ऑपरेशन चलाकर FIR दर्ज कराने की धमकी देकर अवैध वसूली किया जा रहा है।