सिंघड़िया के खोट्ठा टोला में कलयुगी बेटे ने की पिता की हत्या

 

गोरखपुर: बेटे की चाह में माँ बाप भगवान से लेकर डाक्टरों के दरवाजे के चक्कर लगाते है और बेटा ही जब माँ बाप के खून का प्यासा बन बैठे तो रिस्ता कलंकित तो होना स्वाभाविक है। ऐसा ही एक मामला गोरखपुर के कैंट थाना क्षेत्र के खोट्ठा टोला में में देखने को मिला जहा पत्नी बुजुर्ग पति को घर पर छोड़ मैके भाइयो को राखी बांधने गयी और इधर उसका बेटा ही अपने पिता को रॉड से हमला कर मौत के घाट उतार दिया।

कैंट थानाक्षेत्र के सिंघड़िया के खोट्ठा टोला में बीती रात शराबी बेटे ने सेवानिवृत्त रेलकर्मी की पीट-पीटकर हत्या कर दी । वारदात के बाद पत्नी और बच्चों के साथ फरार हो गया। आरोपी पैसे के लिए आए दिन पिता से झगड़ा करता था । कैंट पुलिस आरोपी की तलाश में दबिश दे रही है।

खोट्ठा टोला निवासी राम दुलारे साहनी (70) रेलवे के पुल कारखाना में काम करते थे। 10 साल पहले वे सेवानिवृत्त हुए थे । परिवार में पत्नी मेवाती के अलावा पांच बेटे राजेंद्र, गिरधारी, बनारसी, मुन्नीलाल व सुभाष चंद्र हैं ।जिसमें बनारसी, मुन्नीलाल व सुभाष दिव्यांग है। राजेंद्र बिजली का काम करता है और वह आए दिन शराब पीने के बाद रुपये के लिए पिता से झगड़ा करता था।

रामदुलारे की पत्नी मेवाती देवी भाई को रक्षा सूत्र बांधने अपने मायके चिलुआताल गई थीं, दूसरे नंबर का बेटा गिरधारी परिवार के साथ लखनऊ गया था। शाम को राजेंद्र शराब पीकर घर आया और बरामदे में भोजन कर रहे पिता से उलझ गया।

गन्ना फार्म के पास स्थित जमीन को बेचकर रुपये देने का दबाव बनाने लगा, मना करने पर राड से उसने रामदुलारे के सिर पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। सिर में गंभीर चोट लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वारदात के बाद राजेंद्र पत्नी सुमन व चार बच्चों को लेकर घर से फरार हो गया। दिव्यांग बेटे बनारसी और सुभाष के शोर मचाने पर जुटे आसपास के लोगों ने सूचना 100 नंबर पर दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज आरोपी हत्यारा कलयुगी बेटे की तलाश में जुट गयी है ।जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा । वही घटना की जानकारी होने के बाद मृतक रामदुलारे के सभी बेटे घर पहुंचे ।