एसएसपी ने फेंट दिया सीओ पेशी में जमे 44 पुलिसकर्मी, चारू निगम को कैंट सर्किल का अतिरिक्त प्रभार

TIME
TIME
TIME

गोरखपुर: जनपद की कमान संभालते ही नवागत एसएसपी सत्यार्थ अनिरुध्द पंकज ने बड़ा फेर बदल करते हुए सीओ पेशी में लम्बे समय से जमे 44 पुलिसवालों को ताश के पत्तों की तरह फेट दिया। वहीं सीओ गोरखनाथ आईपीएस चारू निगम को कैंट सर्किल का अतिरिक्त प्रभार भी दे दिया।

एसएसपी सत्यार्थ ने एक आदेश के तहत सीओ गोरखनाथ चारु निगम को कैंट सर्किल की भी जिम्मेदारी सौंपी है। पूर्व सीओ अभय मिश्रा के लखनऊ स्थानांतरण के बाद यह सर्किल खाली चल रही थी। उन्होंने पूर्व की कई घटनाओं को संज्ञान में लेते हुए जिले के सभी सीओ की पेशी को तास के पत्ते की तरह फेट दिया।

अक्सर थाने-चौकी के साथ अफसरों की पेशी में भी भ्रष्टाचार की शिकायतें आती रही हैं। अब तक शिकायत के आधार पर पेशी से एक दो लोगों का तबादला कर काम चला लिया जाता था। मंगलवार को उन्होंने जिले के सभी क्षेत्राधिकारियों की पेशी में लम्बे समय से जमे 44 पुलिसवालों के तबादले का आदेश जारी कर दिया। यह पहली बार हुआ है जब पूरी की पूरी की पूरी पेशी का तबादला कर दिया गया। इससे पुलिस महकमें में हड़कम्प मच गया है।

एसएसपी द्वारा किये गए तबादलों में सीओ कोतवाली दफ्तर में तैनात चार पुलिस वालों को सीओ गोला के दफ्तर में भेजा गया है जबकि सीओ कैंट दफ्तर में तैनात छह पुलिस वालों को सीओ खजनी, सीओ गोरखनाथ कार्यालय से छह को सीओ चौरी चौरा, सीओ कैंपियरगंज दफ्तर से पांच पुलिस वालों को सीओ कोतवाली व दो पुलिस वालों को एसपी सिटी दफ्तर भेजा गया है। दो पुलिसकर्मियों की तैनाती एसपी ग्रामीण के दफ्तर में की गई है।

इसी तरह से सीओ बांसगांव दफ्तर से चार पुलिस वालों को सीओ कैंट, सीओ गोला से छह पुलिस वालों को सीओ गोरखनाथ, सीओ खजनी के यहां से छह पुलिस वालों को कैंपियरगंज दफ्तर भेजा गया है। चौरीचौरा सीओ दफ्तर से पांच पुलिस वालों को बांसगांव भेजा गया है। जबकि मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद भी फरियादियों की फरियाद न सुनने वाले उरूवा थाने में तैनात चंद्र भान कुमार भारती और मोहम्मद अली अब्बास को पुलिस लाइन का रास्ता दिखा दिया गया है। दोनों पर फरियाद न सुनने की शिकायत थी। इन दोनों पर कार्रवाई से पुलिस विभाग में तरह तरह की चर्चाएं शुरू हो गई है।