सिद्धार्थनगर: ठेकेदारों के बहिष्कार से सड़कों के गड्डा मुक्त होने पर संकट

सिद्धार्थनगर: प्रदेश सरकार ने सभी सड़कों को 15 जून तक गड्ढा मुक्त करने का आदेश दिया है। लेकिन इसी बीच सरकार के ठेकेदारी की नई व्यवस्था सड़कों के गड्ढा मुक्त होने में सबसे बड़ा रोड़ा बन गया है। ई-टेण्डरिंग की व्यवस्था के चलते ठेकेदारों ने विभाग द्वारा निकाली जाने वाली निविदा का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। जिसके चलते अब जिले की सड़कें 15 जून तक गड्ढा मुक्त होना मुश्किल हो गया है।

सभी विभागों में ई-टेण्डरिंग की व्यवस्था लागू किए जाने को लेकर ठेकेदारों ने इसका पुरजोर विरोध करते हुए इस सम्बंध में जिलाधिकारी सहित मंत्री को भी ज्ञापन भेजकर समस्या से अवगत कराया है। ठेकेदारों का कहना है कि नई व्यवस्था के तहत बी, सी व डी श्रेणी के ठेकेदारों को काम नहीं मिल सकेगा, ऐसे में वह पूरी तरह से बेरोजगार हो जाएंगे और उन्हें तमाम दुश्वारियां झेलनी पडे़गी। ऐसे में सभी ठेकेदारों ने एक साथ निविदा का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।

ऐसे में जिले की सड़कों को कैसे गड्ढा मुक्त किया जाएगा विभाग के सामने यह सबसे बड़ा सवाल है। जिले की शायद ही कोई सड़क ऐसी है जो गड्ढा मुक्त है। सभी प्रमुख सड़के खस्ताहाल है, जिसे गड्ढा मुक्त करना विभाग के लिए बड़ी चुनौती है। अगर यही हाल रहा तो इस बरसात में जिले के लोगों के लिए गड्ढा युक्त सड़कें बड़ी दुश्वारी की वजह बनेंगी। वहीं, ठेकेदारों का कहना है कि जब तक सरकार कोई बदलाव नहीं करती है तब तक बहिष्कार जारी रहेगा।