टॉप न्यूज़

औषधि विभाग ने मेडिकल कॉलेज के सामने दवा विक्रेताओं की दुकान पर छापा मारा; जांच के खौफ से कई दुकानदार भागे

Vigilance-team-at-chemist-sगोरखपुर: जिले में दवा के गोरख धंधे पर रोक लगाने के लिए बाहरी ज़िलों के औषधि विभाग की जॉइंट टीम ने शासन के निर्देश पर शनिवार दिन में बी आर डी मेडिकल कॉलेज के सामने और कैंपस में स्थित कुल 12 दवा विक्रेताओं के प्रतिष्ठान पर औषधि विभाग की टीम ने छापा मार दुकानों तथा दुकान में भंडारित औषधियों की सघन जाँच की।
जाँच के दौरान 22 संदिग्ध औषधियों के नमूने जाँच हेतु राजकीय विश्लेषक, उ प्र को भेजा गया।छापे के दौरान कई प्रतिष्ठानों पर शेड्यूल H1 की दवाओं के अभिलेख नियमानुसार नहीं पाये गए। औषधियों का भण्डारण भी संतोषजनक नहीं पाया गया और क्रय-विक्रय अभिलेख नियमानुसार नहीं पाया गया।
समस्त निरीक्षण आख्याएँ औषधि अनुज्ञापन प्राधिकारी, गोरखपुर को कार्यवाही हेतु हस्तगत करा दी गयीं हैं।
Closed-chemist-shopsजानकारी के अनुसार अपर्णा मेडिकल स्टोर, राहुल मेडिकल स्टोर, जानकी मेडिकल स्टोर, अम्बे मेडिकल एजेंसी, दुर्गा मेडिकल एजेंसी, जे के मेडिकल, अलोक मेडिकल, ताज मेडिकल, लकी मेडिकल, जायसवाल मेडिकल स्टोर की दुकाने छापा टीम के पहुँचते ही दुकान बंद कर फरार हो गए।
बता दें कि शुक्रवार को औषधि विभाग की भारी भरकम टीम ने सहजनवा इलाके की दुकानों की जमकर चेकिंग किया था। जिसमे एक झोला छाप डॉक्टर विनोद को भारी मात्रा में दवाओँ के साथ गिरफ्तार कर जेल भी भेजा गया। इसके साथ ही कई दुकानों पर हलकी गड़बड़ियां पाकर नोटिस और लाइसेन्स निलंबन की कार्रवाई भी हुई।
ये खबर आज शनिवार सुबह समाचार पत्रो में पढ़कर औषधि विक्रेताओ में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है। जिससे अब औषधि विक्रेताओ ने भी पार पाने के लिए विभाग में अपना जासूस लगा कर टीम के रूटीन वर्क और चेकिंग रुट की जानकारी लेनी शुरू कर दिया है।
शनिवार को जब औषधि विक्रेताओं को उनके सूत्र ने बताया कि टीम का आज का प्लान मेडिकल रुट है तो बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज के गेट पर वर्षो से दो का चार लेने वाले दुकानदारो ने जांच करने आयी टीम के खौफ से दुकानदार दुकान बंद करके गायब हो गए।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *