टॉप न्यूज़

गोरखपुर के लाल ने माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप से ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की उठायी आवाज़

गोरखपुर: जिले के चरगांवा ब्लाक के एक युवक ने पर्वतारोहण के दौरान माउंट एवरेस्ट के बेस कैम्प से बेटी पढ़ाओ,बेटी बचाओ अभियान के लिए पताका लहराया। बता दें कि गोरखपुर जनपद के चरगांवा ब्लॉक के रामपुर के गोपालपुर गोनरपुरा निवासी नीतीश सिंह पुत्र स्वर्गीय अमरजीत सिंह उत्तर प्रदेश के प्रथम युवा हैं और इस टीम में 7 देशों के एवं 15 सदस्य हैं। उनके परिवार में दो भाई और दो बहने हैं।

बड़ी बहन की शादी हो चुकी है और बड़े भाई नीरज सिंह नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी गोरखपुर यूनिट में लैब असिस्टेंट पद पर कार्यरत है तथा छोटी बहन दीनदयाल उपाध्याय गोविवि से रक्षा अध्ययन एमए फाइनल ईयर की विद्यार्थी हैं और नेशनल लेवल की खिलाड़ी भी हैं।उनसे छोटे भाई 11 वी क्लास में है।

नीतीश कहते हैं बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ अभियान को और बढ़ावा दिया जाना चाहिए।क्योंकि हमें नहीं लगता हैं कि लड़की लड़के में कोई फर्क होना चाहिए,बल्कि आजकल लड़कियां हर जगह पर आगे हैं।धरती से लेकर चांद तक और समुंदर से लेकर ऊंची पहाड़ियों तक चाहे खेल का मैदान हो या सीमा सुरक्षा की बात बेटियां हर जगह देश का नाम रोशन कर रही हैं।इसलिए उनको भी पढ़ने और जीने का अधिकार है।हम खुद लड़कियों को बहुत सपोर्ट करते हैं उन्हें पढ़ने और लिखने के लिए हम एक (AASHAYEIN – Let’s spread smile)के नाम से संस्था चलाते हैं। इस संस्था के लोग जो गरीब बच्चों एवं लड़कियों को फ्री में पढ़ाने का काम करते है और जो लोग स्कूल नही जा पाते।उनको स्कूल भेजने एवं एड्मिसन कराने का कार्य करते है।

नितिन सिंह दिल्ली यूनिवर्सिटी के किरोड़ीमल कॉलेज के बीकॉम सेकंड ईयर के छात्र हैं।उन्होंने इंटर की पढ़ाई राजकीय जुबली इंटर कॉलेज से की है।उन्हें फोटोग्राफी का बहुत शौक है।उन्हें लोकनीति से बेस्ट फोटोग्राफी का अवार्ड 2018 भी मिला हुआ है। हिमालय की चोटी पर चढ़ने का नीतीश का यह पहला मौका है।इससे पहले वह हिमाचल प्रदेश की पहाड़ियों पर पढ़ाई के दौरान शौकीन चढ़ चुके हैं।

मगर खर्च की वजह से योजना नहीं बन पा रहे थे, उनके सीनियर राहुल गुप्ता ने हौसला बढ़ाया और आर्थिक मदद भी की। कुछ रकम घट रही थी तो नीतीश ने अपना दो डीएसएलआर कैमरे भी बेंच दिए और अपने पॉकेट खर्च को जो बचाया था,वह भी लगा दिया । राहुल गुप्ता दो बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने की कोशिश कर चुके है ,पर वो सफल नहीं हुए।तीसरी बार राहुल गुप्ता खुद चढ़ाई करने जा रहे हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *