टॉप न्यूज़

टी ई टी परीक्षा में नकल करने और कराने वाले होंगे दण्डित: डी एम

DM-GKP-during-the-meetingगोरखपुर: आगामी 2 फरवरी को उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टी ई टी) को नकलविहीन एंव पारदर्शिता के साथ सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी ओ एन सिंह ने परीक्षा केन्द्र से संबंधित प्रधानाचार्यों को आवश्यक निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी सुरक्षा व्यवस्था कर दी गयी है इसके अलावा भी किसी को कोई कठिनाई हो तो वो सूचित कर दें।
जिलाधिकारी ने कहा कि परीक्षा में नकल का प्रदूषण पूरे समाज को दूषित कर रहा है। नकल से जो अध्यापक बनेगा वह पूरे समाज को खराब करेगा।
उन्होंने कहा की नकल कराने वाले व नकल करने वालें दोनों को सुसंगत धाराओं में दण्डित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि नकलची अध्यापक पढ़ाने आयेगा तो बच्चों का क्या भविष्य होगा।
अपर जिलाधिकारी नगेर बी एन सिंह ने सुझाव दिया कि पर्चा लेकर जब भी नियुक्त मजिस्ट्रेट परीक्षा केन्द्र पर जायें तो विद्यालय पर कोई जिम्मेदार व्यक्ति उपस्थित रहे। उन्होने बताया कि यदि किसी परीक्षार्थी का प्रवेश पत्र छूट गया हो या गायब हो गया हो तो आईडी प्रुफ लेकर प्रवेश करा दिया जाये तथा बाद में औपचारिकता पूर्ण की जाये।
उन्होंने कहा कि जो अभ्यर्थी दूसरे के स्थान पर परीक्षा देते हुए पाया गया अथवा नकल में अवैध तरीके अपनायेगा तो केन्द्र व्यवस्थापक उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज करा दें।
जिला विद्यालय निरीक्षक ने बताया कि परीक्षा दो पालियों में सम्पन्न होगी प्रथम पाली 10 से 12.30 बजे तक उच्च प्राथमिक स्तर एंव 2.30 से 5.00 बजे तक प्राथमिक स्तर पर होगी। जनपद में कुल 33 परीक्षा केन्द्र बनाये गये है इसके संचालन के लिए 14 सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाये गये है तथा इनके साथ 3-3 सहायक लगाये गये हैं। सभी मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी है कि कोषागार के डबल लाक से प्रश्नपत्र लेकर केन्द्र तक सुरक्षित पहुंचायेगे तथा पुनः उत्तर पुस्तिका वही जमा करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *