टॉप न्यूज़

बेटी की आबरू पर बन आयी तो माँ बन गयी पतिहंता, 16 जनवरी को बेलीपार क्षेत्र में मिली अज्ञात लाश का खुला रहस्य

Accused-motherगोरखपुर: माँ तो आखिर माँ है, माँ के सामने भला औलाद पर आंच आये ये वो कैसे बर्दाशत कर सकती है। फिर चाहे वो कोई बाहरी हो या फिर उसका पति ही क्यों न हो। कुछ ऐसा ही हुआ गोरखपुर में जहा एक माँ कातिल बन गई और अपने ही पति की दे दी सुपारी|
मामला शहर के बेलीपार थाना क्षेत्र का है जहा मजबूर माँ बन गई हत्यारिन। कहते है मज़बूरी कब किसको किस मोड़ पर ले आये कोई नही जनता शायद ये मज़बूरी ही थी कि एक माँ को कातिल बनना पड़ा। 10 साल पहले जिन बच्चों के अच्छी परवरिस के लिए इस माँ ने दूसरी शादी रची, वही शादी और पति क़त्ल की वजह बन गयी ।
बता दें कि गोरखपुर के बेलीपार थाना क्षेत्र के वाराणसी राष्ट्रीय राज मार्ग पर महोब गाँव के पास सडक के किनारे मिले एक व्यक्ति की लाश पुलिस के लिए सिर दर्द बना हुआ था और अज्ञात में पुलिस ने कार्यवाही कर उसकी शिनाख्त में जुट गई थी। मृतक की शिनाख्त बस्ती के रहने वाले मोतीलाल राजभर के रूप में हुई है |
पुलिस के गिरफ्त में खड़ी इस महिला का पति था ये मृतक और 10 साल पहले इस महिला से मोतीलाल राजभर ने शादी की थी। महिला की पहली शादी से तीन बच्चे थे और ये उसकी दूसरी शादी थी। मोतीलाल राजभर भी चार शादी पहले ही कर चुका था, और ये उसकी पांचवी शादी थी |
शादी के बाद तो कुछ दिन ठीक चला, लेकिन जब आरोपी महिला की बेटिया बड़ी हुई, तो उस पर मृतक मोतीलाल राजभर की नजर खराब हो गई और ये उन लडकियों को छेड़ने का काम करता था और उनके साथ गलत हरकत करता था। उससे परेशान होकर कई बार पत्नी ने पति को टोका और मना किया तो उसने पत्नी को मारने की कोशिश की और उसे धमकी भी दी साथ ही बेटियों को भी धमकी दी की अगर वो मना करेंगी या किसी से कहेंगी तो वो उनकी माँ को मार
देगा।
काफी दिनों से परेशान एक माँ ने आखिर में एक ऐसा कदम उठाया जिसके बाद एक आम माँ बन गई कातिल और दे दी अपने ही पति की सुपारी ।
Dead-bodyघटना की मुख्य आरोपी प्रेमा देवी माँ ने अपनी पीड़ा एक बगल के ठेला लगाने वाले लडको से कही जिसके बाद काफी टाल मटोल करने के बाद उसने ये षड्यंत्र रचा और अपने एक साथी की मदद से सडक के किनारे सिर पर पत्थर से वार कर उसकी निर्मम ह्त्या कर दी |
आरोपी ने अपने इकबाले बयान में जुर्म को कबूल कर लिया और पूरी बात बताई। आरोपी की माने तो ये पहले मृतक मोतीलाल राजभर को अपने साथ बाइक से ले गया और उसे दारु पिलाई फिर अपने एक साथी की मदद से सुनसान जगह पर ले जाकर उसकी निर्मम ह्त्या कर दी और वहा से फरार हो गया |
ये पूरी हत्या 30 हजार में तय हुई थी। आरोपी पत्नी ने 30 हजार की सुपारी इन लोगो को ह्त्या करने के लिए दी थी | जिसमे 5-5 हजार करके 10 हजार दिया जा चुका था बाकी बाद में देना था और इन लोगो ने पैसे की लालच में उसकी निर्मम हत्या कर दी |
इस सम्बन्ध में दूसरे आरोपी दीपक और रानू सिंह ने भी हत्या की घटना कारित करने का जुर्म स्वीकार कर लिया है।
घटना का खुलासा करते हुए नेतृत्वकर्ता एस पी आर ए ब्रिजेश कुमार ने कहा कि मज़बूरी ने एक माँ को कातिल बना दिया और अपने ही पति की सुपारी दे
डाली और उसकी हत्या करा दी। फिलहाल पुलिस ने इस मामले से पर्दा उठा कर आरोपी पत्नी और आरोपी हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया |
अपनी इज्जत को बचाने के लिए और बेटी की अस्मत को बचाने के लिए इतना बड़ा कदम एक माँ ने उठा लिया | अगर वह इस मामले में पहले ही कानून का सहारा ली होती तो आज शायद उसे ये दिन न देखना पड़ता।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *