टॉप न्यूज़

बेटे के निमंत्रण पर अमेरिका से पिपराइच चली आई फ़ेसबुकिया माँ; नगर पंचायत ने भी अमेरिकन माँ को किया सम्मानित

Pipraichगोरखपुर: दुनिया गोल है या नहीं इस बात पर बहस हो सकती है लेकिन सोशल मीडिया खास कर के फ़ेसबुक ने समूचे विश्व को एक गाँव में तब्दील कर दिया है इस बात पर शायद ही किसी को संदेह हो और अगर किसी को है तो यह खबर पढ़ कर दूर हो जाएगी।
ताज़ा मामला गोरखपुर से सटे पिपराइच का है जहा एक फ़ेसबुकिया बेटे के नेह निमंत्रण पर और उसकी शादी में शामिल होने और उसको आशीर्वाद देने एक फ़ेसबुकिया माँ लास एंजेलिस से पिपराइच आ गई। यह शादी पूरे कस्बे में चर्चा का विषय बनी हुई है।


चार साल पहले फेसबुक पर हुई जान पहचान के बाद बातचीत में दोनों की भावनाएं इस कदर जुड़ी की हजारों मील की दूरी भी उन्हें मिलने से नहीं रोक सकी।
जानकारी के अनुसार पिपराइच कस्बे में कीटनाशक और बीज के व्यापारी वार्ड नंबर नौ के निवासी सच्चिदानंद तिवारी के बेटे कृष्णा तिवारी फेसबुक पर विदेशी लोगों से दोस्ती करने के शौकीन हैं। कृष्णा की फ्रैंडलिस्ट में देश और विदेशी दोनों तरह के दोस्तों की भरमार है। उनकी ऐसी ही एक दोस्त लास एंजेलिस की 60 वर्षीय डिबरा एन मिलर हैं।
Pipraich-1कृष्णा के अनुसार डिबरा एन मिलर से उनका रिश्ता इतना गहरा हुआ कि दोनों ने एक दूसरे को मां-बेटे का दर्जा दे दिया। गौरतलब है की मिलर की कोई अपनी संतान नहीं है और ऐसे में जब कृष्णा ने उनके सामने अपने आप को बेटे के रूप में रखा तो वह मना नहीं कर सकीं।
यूँ तो ये रिश्ता बराबर फ़ेसबुक पर चलता रहा। किन्तु इस बीच जब कृष्णा की शादी तय हुई तो उसने फेसबुक पर ही अपनी अमेरिकन मां को आने का न्योता भेज दिया। और मिलर भारत आने को तुरंत तैयार हो गईं।
Pipraich-2अमेरिका से आई अपनी अमेरिकन माँ का स्वागत कृष्णा ने भी काफी गर्म जोशी से किया। कृष्णा ने अमरीकन माँ के सुविधाओं का ख्याल रखते हुए शहर के एक प्रतिष्ठित होटल में उनके रुकने की व्यवस्था भी कर दी | वही भारतीय रीति रिवाजों से अनभिज्ञ अमेरिकन मां शादी में न केवल पहुंची बल्कि भारतीय परिधान में उन्होंने हर रस्म को पूरा भी किया। चेहरे पर खुशी ऐसी छलक रही है मानों खुद के बेटे की शादी हो। वाकई उनके बेटे की ही शादी हो रही है।
इस अम्रेकिन माँ ने भारतीय रीती रिवाजो को न देखा बल्कि उसे महसूस कर सभी रस्मो में सांझेदारी भी की। तिलक की रस्मों को बहुत गौर से देखते हुए बेटा-बहू को देने के लिए कीमती उपहारों के साथ बहू को देने के लिए सवा सौ साल पुरानी एक अंगूठी भी साथ ले आई । यह अंगूठी अपनी बहू के लिए ही वर्षो से संजो कर रखे हुई थीं।
और बात यही तक नहीं रुकी। जब बात मेहमान नवाज़ी की आ जाये तो हमारे राजनीतिज्ञ भला कहा पीछे रहने वाले। और इसी क्रम में पिपराईच नगर पंचायत ने मिलर को सम्मानित भी किया। इस अवसर पर पिपराईच चेयरमैन बेचना देवी, सभासद रमजान अली, हरिओम जायसवाल (सभासद), पिपराईच एस ओ सहित नगर के सैकड़ो लोग समारोह में शामिल हुए।

 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *