टॉप न्यूज़

गोरखपुर उपचुनाव: 11 बजे तक 17% मतदान

गोरखपुर: सदर लोकसभा उपचुनाव के लिए मतदान जारी है। जानकारी के अनुसार 11 बजे तक 17 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। वहीँ प्रदेश की अन्य लोक सभा सीट फूलपुर में 11 बजे तक मात्र 12 प्रतिशत ही मतदान हुआ था। दोनों सीटों पर बीजेपी और सपा के बीच कांटे का मुकाबला है।

इससे पहले गोरखपुर में सुबह 9 बजे तक 7 प्रतिशत मदान रिकॉर्ड किया गया। वहीं फूलपुर में यह प्रतिशत और कम रहा। यहां नौ बजे तक 4.8 फीसदी ही मतदान हुआ। इस बीच फूलपुर में इलाहाबाद शहर पश्चिमी के किदवई कॉलेज में वोटिंग मशीन खराब होने के कारण मतदान रुका रहा।

गोरखपुर में भी चुनाव को लेकर जिला प्रशासन की तैयारियों की पोल खुलती गई। कई बूथों पर ईवीएम खराब हो गई। इनको बदलने के बाद मतदान प्रक्रिया को आगे बढ़ाया गया। दो घंटे में बेहद धीमा मतदान आज रविवार होने का संकेत दे रहा था। इसके बाद वोटर घर से निकले। जहां सात से नौ बजे के बीच में इलाहाबाद के फूलपुर में केवल 4.8 फीसदी मतदान हुआ। शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केंद्रों पर सन्नाटा पसरा था। शहर उत्तरी में केवल 1.8 फीसदी मतदान हुआ।

लोकसभा के उप चुनाव के दौरान पहले दो घंटे में मतदान बेहद धीमा रहा। मतदाताओं पर आज रविवार का असर काफी भारी दिख रहा था। गोरखपुर लोकसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव की शुरुआत काफी धीमी रही। सुबह के पहले 2 घंटे में नौ बजे तक सभी पांच विधानसभा सीटों पर मात्र 6.80 फीसद मतदान हो सका है। विधानसभावार कितना प्रतिशत मतदान हुआ है कंट्रोल रूम इसकी सूचना एकत्र कर रहा है।

सहजनवा, पिपराइच और कैंपियरगंज के कुछ बूथों पर ईवीएम में खराबी के चलते इसे बदलना या ठीक करना पड़ा है। इसके चलते कुछ जगहों पर मतदान देर से शुरू हुआ है। अभी तक कहीं से भी किसी तरह के विवाद या झड़प की सूचना कंट्रोल रूम को नहीं मिली है। जिला निर्वाचन अधिकारी, प्रेक्षक और सभी मजिस्ट्रेट अपने अपने क्षेत्र में दौरा कर रहे हैं। विधानसभावार मतदान का प्रतिशत अभी थोड़ी देर में उपलब्ध कराया जाएगा।

गोरखपुर में बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला और बसपा समर्थित सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद और कांग्रेस की सुरहिता करीम मैदान में हैं। वहीँ फूलपुर में बीजेपी के कौशलेंद्र पटेल और बसपा समर्थित सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल के बीच मुकाबला माना जा रहा है। जबकि कांग्रेस के मनीष मिश्रा और बाहुबली अतीक अहमद भी निर्दलीय मैदान में हैं।

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने गोरखपुर और डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने फूलपुर सीट से पिछले साल इस्तीफा दे दिया था। इसके चलते दोनों सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। गोरखपुर में सीएम योगी आदित्यनाथ की तो फूलपुर में डिप्टी सीएम केशव मौर्या की प्रतिष्ठा दावं पर है।

गोरखपुर बीजेपी की परंपरागत सीट मानी जाती है, इसीलिए गोरखपुर को बीजेपी का गढ़ कहा जाता है। यहाँ से तत्कालीन गोरक्षपीठाधीस्वर महंत अवैद्यनाथ ने 1989 में हिंदु महासभा के टिकट पर चुनाव के जीत का जो सिलसला शुरू किया, वह 2014 तक महंत योगी आदित्यनाथ तक जारी रहा। योगी इस सीट से पिछले पांच बार से लगातार योगी बीजेपी के टिकट से संसद पहुंचते रहे हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *