टॉप न्यूज़

VIDEO गोरखपुर उपचुनाव: 46 लाख रुपये कैश बरामद, जांच में जुटा इनकम टैक्स विभाग

गोरखपुर उपचुनाव: CMS कंपनी के कैश वैन से 46 लाख रुपये कैश बरामद

गोरखपुर: प्रदेश केें 2 जिलों में गोरखपुर उपचुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग की पूरी मुस्तैदी है। जिसकी बानगी आज गोरखपुर में देखने को मिली । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जिले में जिला प्रशासन की पैनी नजर के कारण स्टेटिक मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में चलाए जा रहे सघन जांच अभियान के दौरान आज कोतवाली स्थित विजय चौराहे पर CMS कंपनी के कैश वैन से 46 लाख रुपए बरामद होने के बाद से हड़कंप मच गया।कंपनी द्वारा पैसे का सही विवरण न दे पाने पर पूरे कैश को इनकम टैक्स के अधिकारियों के सुपुर्द कर दिया गया।

कोतवाली थाना क्षेत्र के विजय चौराहे पर आज जिला प्रशासन के निर्देश के अनुसार स्टेटिक मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में स्थानीय पुलिस चार पहिया वाहनों की सघन चेकिंग कर रही थी। जिले में आचार संहिता लागू है और धारा 144 के मद्देनजर यह चेकिंग अभियान बड़े ही मुस्तैदी के साथ चलाया जा रहा है। इस दौरान CMS कंपनी की कैश वैन को रोककर जब अधिकारियों ने उसमें कितना कैस है।

यह जानने की कोशिश की तो कंपनी के कर्मचारियों द्वारा 30 लाख कैश होने की बात कही गई। इस दौरान अधिकारियों को कुछ शक हुआ, तो उन्होंने कैश का मिलान किया जिसमें 16 लाख रुपए ज्यादा मिले।जब इन 16 लाख रुपए के कागजात और जानकारी मांगी गई, तो कंपनी के कर्मचारी कुछ भी कह नहीं सके।

इस संबंध में स्टेटिक मजिस्ट्रेट डॉक्टर अमरेश यादव ने बताया कि जिला प्रशासन के निर्देश के अनुसार अधिक मात्रा में साड़ी, कपड़ा, शराब और कैश के मद्देनजर सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था। इस दौरान CMS कंपनी की कैश वैन से कैश की जानकारी ली गई, कंपनी द्वारा 30 लाख कैश होने की बात कही गई लेकिन शक होने पर जब हम लोगों ने केस का मिलान किया तो 16 लाख रुपए कैश अधिक मिले।

जब इसकी रसीद मांगी गई तो कंपनी के कर्मचारी कुछ भी नहीं बता सके। जिसकी सुचना जिला प्रशासन व इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों को दी गई। कैश और कर्मचारियों को इनकम टैक्स विभाग के सुपुर्द कर दिया गया है, अधिकारी जांच कर रहे हैं। जिले में आदर्श आचार संहिता लागू है, और जिले में किसी भी तरीके से अवैध चीजों का इस्तेमाल ना किया जाए, इसकी रोकथाम के लिए इस तरह की सघन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *