टॉप न्यूज़

बांसगांव सांसद कमलेश पासवान पर SSP ने दर्ज कराया मुकदमा, विधायक भाई ने कहा पुलिस की हरकत बचकाना

बांसगांव सांसद कमलेश पासवान पर SSP ने दर्ज कराया मुकदमा

गोरखपुर: भारतीय जनता पार्टी के शासन आने के बाद अपराधियों के हौसले पस्त नजर आ रहे हैं और सीएम योगी भी प्रदेश को अपराध विहीन बनाने की बात करते है।वहीं गोरखपुर के एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज के निर्देश पर इसी दल के बांसगांव सांसद पर भूमाफियाओ को संरक्षण देने का अभियोग पंजीकृत कराया गया है।

bansgaon

bansgaon

बता दें कि कल 18 फरवरी को राजघाट थानाक्षेत्र के बनकटी चौक निवासी असद उल्लाह ने एसएसपी को उसकी जमीन पर भूमाफियाओं द्वारा कब्जा करने और बांसगांव संसद द्वारा उनको संरक्षण प्रदान करने की शिकायत करते हुए प्रार्थना पत्र दिया था।जिसमें घटनास्थल के समीप सीसीटीवी कैमरे में उक्त लोगों की उक्त मौजूदगी का उल्लेख किया है।

Case registered against bansgaon

Case registered against bansgaon

जिसे देखते हुए एसएसपी के आदेश पर जमीन पर कब्जा करने के आरोप में बांसगांव भाजपा सांसद के खिलाफ कल ही कैंट थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।बताया जा रहा है कि लगभग एक दर्जन से ज्यादा लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है जिसमें प्रमुख मुख्य धाराएं हैं 147, 148, 149, 323,504,506, 427,447,120 बी है।

असदउल्लाह वारसी ने अपनी तहरीर मे कहा कि है उनकी जमीन पर कब्जा करने आए लोग स्कार्पियो , फराच्यूनर, सफारी, बाइक से आये थे और असलहा लहरा रहे थे. यह सभी घटना सीसीटीवी में दर्ज है जिसकी क्लिपिंग भी पुलिस को दी गई है.

असदउल्लाह के अनुसार यह जमीन उसके नाम से रजिस्ट्री है। वर्ष 2008 में निकहत आरा व अन्य ने जमीन का फर्जी पत्रावली तैयार करा लिया और 29 फरवरी को तहसीलदार से एकपक्षीय आदेश प्राप्त कर लिया जो दो अप्रैल 2012 को निरस्त हो गया। इसके बावजूद निकहत आरा ने उक्त जमीन सुरेन्द्र प्रसाद के नाम से मुआयदावय कर दिया जिस पर उन्होने कैंट थाने में 3 मार्च 2017 को एफआईआर करायी थी। उस जमीन पर वह निर्माण कार्य करा रहा है जिस पर आज कब्जा करने की कोशिश की गई.

पुलिस ने असदउल्लाह की तहरीर पर सांसद कमलेश पासवान के अलावा अरशद अली, शाद अली, सुरेन्द्र, सतीश नांगिलया, प्रभाकर दूबे, अमित सिंह, सूरज ड्राइवर, अखिलेश दुबे, निकहत आरा व 15-20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. जानकर लोगों ने बताया कि जिस जमीन पर कब्ज़ा करने की कोशिश की गई , वह लगभग 25 करोड़ की है.

Case registered against bansgaon mp kamlesh paswan

Case registered against bansgaon mp kamlesh paswan

इस संदर्भ में उनके छोटे भाई और बांसगांव विधानसभा के विधायक डॉक्टर विमलेश पासवान का कहना है कि हाल ही में सांसद कमलेश पासवान फूड प्वाइजनिंग की वजह से राम मनोहर लोहिया अस्पताल में एडमिट थे और दो दिन पहले ही वह वहां से छूटे हैं। हमारे सांसद भाई की लोकप्रियता पर दाग लगाने का कार्य पुलिस कर रही है और दलित समाज को नीचा दिखा कर पुलिस क्या हासिल करना चाहती है यह तो वही जाने। मैं गोरखपुर के एसएसपी के कृत्य की घोर निंदा करता हूँ। उनकी यह हरकत बचकाना है।मैं अपना पक्ष मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष रखूंगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *