टॉप न्यूज़

मां चंद्रघंटा की पूजा कर कल लखनऊ रवाना होंगे सीएम, गोरक्षनाथ मंदिर परिसर में बैठाया गया है कलश

अरविन्द श्रीवास्तव
गोरखपुर: मुख्यमंत्री गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ शुक्रवार की सुबह लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे। इसके पहले वह शुक्रवार को मॉ चंद्रघंटा की पूजा अर्चना करेंगे। गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में मंदिर की परम्पराओं और उत्तरदायित्व का निवर्हन करते हुए मुख्यमंत्री सरकार के काम काज भी नजर रखे हुए हैं। मंदिर प्रवास के दौरान वे मंदिर के बाहर नहीं जाएंगे।

गुरुवार की सुबह 4 बजे से 5.30 बजे तक एवं शाम 4 बजे से 6 बजे तक मुख्यमंत्री मॉ ब्रह्मचारिणी की पूजा अर्चना की। शुक्रवार की सुबह मॉ दुर्गा के तीसरे रूप मॉ चंद्रघंटा की सुबह 4 बजे से 5.30 बजे तक पूजा अर्चना करने के पश्चात लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे। फिलहाल गोरखनाथ मंदिर के शक्तिपीठ में नवरात्र की प्रतिपदा से नवमी तक हर दिन शाम 4 से 6 बजे तक दुर्गा सप्तशती और श्रीमद्भागवत कथा का पाठ होगा। इस पूजा अर्चना में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल होंगे।

योगी आदित्यनाथ की अनुपस्थिति में मंदिर के प्रधान पुजारी कमलनाथ उनके प्रतिनिधि के रूप में पूजा-अनुष्ठान करेंगे। प्रधान पुरोहित आचार्य रामनुज त्रिपाठी अन्य पुरोहितों के साथ पूजा को सम्पन्न कराएंगे। इससे पूर्व बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुबह ठीक 4 बजे मंदिर पहुंच गए। उन्होंने गुरु गोरक्षनाथ का दर्शन कर अपने गुरु ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ का आशीर्वाद लिया। उसके बाद स्नान कर कलश स्थापना की पूजा के लिए तैयार हो गए। उन्होंने 8 बजे तक विधि विधान के साथ पूजन की प्रक्रिया सम्पन्न की।

नौ दिन रहेंगे व्रत, यह होगा फलहार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परंपरागत रूप से पूरे 9 न उपवास रखेंगे। उपवास के दौरान योगी फलहार के रूप में सुबह के समय दूध या मठ्ठा का सेवन करते हैं। उसके बाद सूखा मेवा और फल ग्रहण करते हैं। शाम के समय सूखा फल, मेवा, दूध, सिंघाड़े के आटे का बना हलवा, बकला की दाल, तिन्नी का चावल, फाफड़ की रोटी ग्रहण करते हैं।

मंदिर से ही सरकार का काम काज

9 दिन के नवरात्र व्रत एवं धार्मिक अनुष्ठान पर रहते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार के काम काज पर नजर रखे हुए हैं। उनके साथ ओएसडी उमेश सिंह बल्लू एवं विशेष सचिव अमित सिंह भी मंदिर में डेरा डाले हुए हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *