टॉप न्यूज़

गोरखपुर उपचुनाव: कांग्रेस का टिकट पाकर भावुक हुईं डा सुरहिता करीम, हाईकमान को दिया धन्‍यवाद

कांग्रेस का टिकट पाकर भावुक हुईं डा सुरहिता करीम, हाईकमान को दिया धन्‍यवाद

गोरखपुर: मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के गढ़ गोरखपुर में कांग्रेस ने उन्‍हीं की सीट पर भाजपा को घेरने की कवायद में कांग्रेस ने डा सुरहिता करीम को टिकट देकर मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण्‍ा का दांव खेल दिया है। गोरखपुर एयरपोर्ट पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के स्‍वागत से भावुक हुईं डा सुरहिता करीम ने हाई कमान के उन पर विश्‍वास जताने का शुक्रिया अदा किया।

पेशे से चिकित्‍सक डा सुरहिता करीम उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की प्रवक्‍ता हैं। डा सुरहिता करीम साल 2012 में महापौर का चुनाव लड़ चुकी हैं। तब उन्‍हें भाजपा की डा सत्‍या पाण्‍डेय से हार का सामना करना पड़ा था। शनिवार को दिल्‍ली से गोरखपुर लौटीं डा सुरहिता चटर्जी करीम कार्यकर्ताओं के स्‍वागत से अभीभूत हो गईं। उन्‍होंने भावुक होते हुए कहा कि वह हाईकमान का शुक्रिया अदा करती हैं कि उन्‍होंने मेरे ऊपर विश्‍वास जताया।

surahita karim

surahita karim

उन्‍होंने कहा‍ कि एक कार्यकर्ता को टिकट दिया गया है इसलिए वह काफी खुश हैं। एक महिला को इतना सम्‍मान मिला है. ये दिखाता है कि महिलाओं का कितना सम्‍मान देती है। वह महिलाओं के सशक्तिकरण्‍ा के लिए काम करेंगी।

डा सुरहिता ने कहा कि गोरखपुर में मोहब्‍बत का पैगाम बहे। यहां पर नफरत की जो राजनीति होती रही है वो खत्‍म हो। उन्‍होंने कहा कि कार्यकर्ताओं का उत्‍साह देखकर खुशी हो रही है। भावुक हो जा रही हूं।

एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि ऊपर वाला साथ देगा गोरखपुर की जनता साथ देगी तो जीतेंगे जरूर जीतेंगे। उन्‍होंने कहा कि गोरखपुर के विकास की रफ्तार तेज हो। गोरखपुर की जनता को छला नहीं जाना चाहिए। टिकट मिलते कांग्रेस जिला महासचिव अजय सिंह के फेसबुक पर ही विरोधाभास के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि अभी वो मिले नहीं हैं मिलेंगे तो बात कर लेंगे।

सुरहिता के पति और सर्जन डा. विजाहत करीम ने कहा कि टिकट मिलना ही वह जीत मानते हैं। हाईकमान ने विश्‍वास जताया है तो जीतेंगे। उन्‍होंने कहाकि क्रिकेट के खेल में जिस तरह भारत ने साउथ अफ्रीका को 5-1 से करारी शिकस्‍त दी है उससे ये नहीं कहा जा सकता कि किसकी हार और किसकी जीत होगी। टिकट मिला है तो जीत भी होगी।

कांग्रेस ने भले ही योगी की सीट पर मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण का खेल खेला है। लेकिन, योगी की सीट पर भाजपा को हराना कितना आसान और मुश्किल भरा होगा ये जो लोकसभा उपचुनाव के परिणाम आने पर ही पता चल पाएगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *